डच शाही परिवार के सदस्य को समलैंगिक शादी करने के बाद सिंहासन नहीं छोड़ना होगा

एम्सटर्डम . नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रूट ने कहा है कि डच शाही परिवार के सदस्य अपने सिंहासन को छोड़े बिना समलैंगिक शादी कर सकते हैं.सांसदों के सवालों के जवाब में प्रधानमंत्री रूट ने लिखा, ‘कैबिनेट का मानना है कि एक उत्तराधिकारी या राजा को समान लिंग के व्यक्ति से शादी करने के लिए अपने ‘शाही सिंहासन’ को नहीं छोड़ना होगा. डच शाही शादियों को संसद से मंजूरी लेना अनिवार्य है.सिंहासन की उत्तराधिकारी पर गर्मियों में एक किताब ‘अमालिया, ड्यूटी कॉल्स प्रकाशित होने के बाद विषय पर सवाल उठे थे. राजकुमारी अमालिया किंग विलेम-अलेक्जेंडर की सबसे बड़ी संतान हैं. आगामी 7 दिसंबर को वह 18 साल की हो जाएंगी. जून में उन्होंने हाई स्कूल पास किया है.

उन्होंने यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने से पहले एक साल के अंतराल की घोषणा की है. अमालिया ने 1.6 मिलियन यूरो वार्षिक भत्ते को भी ठुकरा दिया है, जिसके लिए 18 साल की होने के बाद वह हकदार होंगी. साल की शुरुआत में पीएम रूट को लिखे पत्र में उन्होंने कहा था कि मुझे ये पैसे लेना सही नहीं लग रहा. क्योंकि मैं इसके बदले में कुछ नहीं कर रही. जबकि कई छात्र (student) हैं जो कोरोना के चलते मुश्किल दौर से गुजर रहे हैं. रूट ने कहा कि आधुनिक परिवार कानून नागरिक जीवन के लिए पारिवारिक कानून संबंधों को स्थापित करने में मदद करता है. अमालिया ने फिलहाल समलैंगिक शादी को लेकर नए फैसले पर कुछ नहीं कहा है. उनकी निजी जिंदगी के बारे में बहुत कम लोग ही जानते हैं. नीदरलैंड में समलैंगिक विवाह को 2001 में ही कानूनी मंजूरी मिल गई थी.

Check Also

सेक्स करने में दे रही थी दिक्कत, इसकारण लेस्बियन पार्टनर ने 16 माह की बच्ची को मार डाला

लंदन . ब्रिटेन की रहने वाली 20 साल की महिला ने अपने 28 साल की …