डिब्बाबंद खाद्यों का घरेलू बाजार 10 साल में 70 अरब डॉलर होगा: नेस्ले इंडिया


नई दिल्ली (New Delhi) . नेस्ले कंपनी का अनुमान है कि भारतीय डिब्बाबंद खाद्य पदार्थों का बाजार अगले पांच से दस साल में दोगुना (guna) होकर 70 अरब डॉलर (Dollar) का हो जाएगा. इसमें आर्थिक वृद्धि, युवा आबादी का लाभ और बढ़ते ई-वाणिज्य बाजार का प्रमुख योगदान होगा. नेस्ले इंडिया के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक सुरेश नारायणन ने यह अनुमान व्यक्त किया.

उन्होंने कहा कि कंपनी को सरकार की तरफ से खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र के लिए भी उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना की घोषणा होने की प्रतीक्षा है. इस तरह की घोषणा सरकार ने ही कंप्यूटर लैपटॉप जैसे इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों के क्षेत्र के लिए की है. खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र के लिए इस तरह की घोषणा अच्छा कदम होगा. इस क्षेत्र में होने वाले पूंजी निवेश और रोजगार सृजन का औसत काफी बेहतर है. नारायणन ने एक आभारी मीडिया (Media) बैठक में कहा ‎कि मुझे इस देश के उपभोक्ता बाजार की कहानी पर पक्का भरोसा है.’

उन्होंने कहा कि सभी प्रमुख एजेंसियों ने जितने भी सर्वेक्षण किए हैं उनमें यह कहा गया है कि पैकिंग वाले सामानों का बाजार अगले पांच से 10 साल में दोगुना (guna) हो जाएगा. आज यह बाजार 35 अरब डॉलर (Dollar) का है और हम इसके 70 अरब डॉलर (Dollar) तक पहुंचने का अनुमान लगा रहे हैं. उन्होंने कहा कि महामारी (Epidemic) के कारण इसमें कुछ देरी हो सकती है लेकिन इससे इनकार नहीं किया जा सकता है.

Check Also

जयंत मलैया को नोटिस, बेटे समेत 5 पार्टी से बर्खास्‍त

भोपाल (Bhopal) . दमोह में उपचुनाव में मिली हार के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) …