काबुल में गुरुद्वारे में तोड़फोड भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के लिए भी चिंता का विषय: विदेश मंत्रालय

नई दिल्‍ली . विदेश मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को कहा कि काबुल में गुरुद्वारा में तोड़फोड़ की घटना ने ना केवल भारत बल्कि पूरी दुनिया के लिए चिंता पैदा कर दी है और अंतरराष्ट्रीय समुदाय को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव में रेखांकित लक्ष्यों को पूरा करने पर जोर देना जारी रखना चाहिए.

खबरों के मुताबिक, काबुल में गुरूद्वारा कार्ते परवान में दो दिन पहले तोड़फोड़ की गयी थी. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने साप्ताहिक प्रेस वार्ता में कहा, स्वभाविक है कि यह केवल हमारे लिये ही चिंता का विषय नहीं है बल्कि मैं समझता हूं कि यह दुनिया के लिये भी है.

उन्होंने कहा यह महत्वपूर्ण है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव में रेखांकित लक्ष्यों को पूरा करने पर जोर देना जारी रखे. उनसे अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में गुरूद्वारा में तोड़फोड़ किये जाने की घटना के बारे में पूछा गया था.

बागची ने कहा कि अफगानिस्तान को लेकर 30 अगस्त को परिषद की भारत की अध्यक्षता के दौरान संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का प्रस्ताव पारित हुआ था. उन्होंने कहा कि इसमें कहा गया है कि अफगानिस्तान की जमीन का इस्तेमान किसी देश के खिलाफ आतंकी गतिविधियों के लिये नहीं किया जाना चाहिए.

अफगानिस्तान से बाहर जाने को इच्छुक लोगों के लिये सुरक्षित आवाजाही सुनिश्चित हो. उन्होंने कहा कि इस प्रस्ताव में यह भी कहा गया है कि अफगानिस्तान में अल्पसंख्यकों, महिलाओं के अधिकारों सहित मानवाधिकारों की रक्षा हो. साथ ही बातचीत के जरिये समवेशी राजनीतिक समाधान निकले.

बागची ने अफगानिस्तान से जुड़े मुद्दे पर अमेरिका की उप विदेश मंत्री वेंडी शेरमन से बातचीत के बारे में मंगलवार (Tuesday) को चर्चा किये जाने का जिक्र किया और कहा कि यह सुनिश्चित किया जाना जरूरी है कि वहां से आतंकवाद का प्रसार नहीं हो. उन्होंने कहा कि सरकार ने पाकिस्तान की भूमिका के बारे में अपना दृष्टिकोण स्पष्ट किया और अपनी चिंताएं भी स्पष्ट की.

कृपया वेबसाइट के संचालन में आर्थिक सहयोग करें

Check Also

आठवां दिवस : महागौरी

श्वेते वृषे समारूढ़ा श्वेताम्बारधरा शुचि:. महागौरी शुभं दद्यान्हादेवप्रमोददा.. माँ दुर्गा जी की आठवीं शक्ति का …