नई दिल्ली, 25 अक्टूबर . दिल्ली के उपराज्यपाल वी.के. सक्सेना ने बुधवार को राष्ट्रीय युद्ध स्मारक के पास एक उद्यान ‘अमृत वाटिका’ के निर्माण की घोषणा की.

‘मेरी माटी मेरा देश’ अभियान में बहादुरों को श्रद्धांजलि देते हुए एलजी ने एकता के प्रतीक के रूप में ‘अमृत वाटिका’ के नए निर्माण की घोषणा की.

इस गार्डन का निर्माण दिल्ली के सभी 11 जिलों से लाई गई मिट्टी से किया जाएगा.

उपराज्यपाल ने यह भी कहा कि यह अभियान उन बहादुर पुरुषों और महिलाओं के प्रति सम्मान व्यक्त करने और कृतज्ञता व्यक्त करने का एक अवसर है, जिन्होंने स्वतंत्रता हासिल करने और हमारी पोषित विरासत की रक्षा के लिए अपनी जान दे दी.

उन्होंने कहा, “उनके नाम ‘शिलाफलकम्’ पर अंकित किए जाएंगे, जो हमारे देश भर के गांवों और शहरी क्षेत्रों में एक स्थानीय श्रद्धांजलि के रूप में खड़ा होगा.”

सक्सेना ने मिट्टी से भरे 11 कलशों को शहर से होते हुए राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर उनके गंतव्य के लिए रवाना किया.

देश के कोने-कोने से युवाओं, स्वयंसेवकों और अन्य लोगों ने पंचायतों/गांवों से मिट्टी एकत्र की और इसे ब्लॉक स्तर पर लाया.

इसी प्रकार, छोटे शहरी निकायों से मिट्टी एकत्र की गई और बड़ी नगर पालिकाओं/शहरी स्थानीय निकायों में लाई गई. इसके बाद पंचायतों/गांवों/शहरी क्षेत्रों की मिट्टी वाले ‘मिट्टी कलश’ को राष्ट्रीय राजधानी में ले जाया गया.

उन्होंने कहा, “‘अमृत कलश यात्रा’ जो हमारे गांवों का सार रखती है, उस ताकत का प्रतीक है जो एकता और साझा जड़ों से प्राप्त होती है.”

अमृत कलश यात्रा को हरी झंडी दिखाने से पहले उपराज्यपाल ने इस अवसर पर उपस्थित स्कूली छात्रों सहित सभी लोगों को ‘पंच प्राण’ शपथ भी दिलाई.

एसजीके