राजस्थान के बारां में चाकूबाजी की घटना के बाद बारां में भडकी हिंसा, हालात काबू में करने लगाना पडा कर्फ्यू, इंटरनेट भी बंद

जयपुर (jaipur) . चाकूबाजी की वारदात के बाद राजस्थान (Rajasthan)के बारां में साम्प्रदायिक हिंसा फैल गई. बिगडे हालातों को काबू करने के लिए इलाके में कर्फ्यू लगाया गया है. इलाके में इंटरनेट बंद कर दिया गया है. पुलिस (Police) के साथ ही आरएसी कंपनी तैनात की गई है. पूरा मामला बारां जिले के छाबड़ा कस्बे का है. शनिवार (Saturday) को चाकूबाजी की घटना हुई थी, जिसने रविवार (Sunday) को साम्प्रदायिक हिंसा का रूप धारण कर लिया.

शनिवार (Saturday) शाम धरनावाड़ा सर्किल में कमल गुर्जर (32) और राकेश धाकड़ (21) को एक अन्य समुदाय के युवकों ने हमले में घायल कर दिया था. इस पर मचे बवाल के बीच कस्बे के कई बाजारों की दुकानों कोउपद्रवियों ने आग के हवाले कर दिया. कई वाहनों को भी फूंक दिया गया. हालात काबू करने के लिए पुलिस (Police) ने आंसू गैस के गोले दागे. कई दुकानदार ऐसे रहे जो डर के कारण अपनी दुकानें खुली छोड़कर ही भाग गए. पुलिस (Police) के आला अधिकारी मौके पर हैं, लेकिन हाला को काबू करने में नाकाम रहे. इसको लेकर पुलिस (Police) की आलोचना भी हो रही है.

पुलिस (Police) अधिकारियों के मुताबिक, अतिरिक्त सुरक्षाबलों को बुलाया गया है. कोटा रेंज के डीआईजी रवि गौड़ समेत वरिष्ठ अधिकारी हिंसा प्रभावित क्षेत्र में मौजूद हैं. वहीं, घायल युवकों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उनके परिवारों एवं जाट और गुर्जर समुदायों के सदस्यों ने 5 आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग करते हुए धरनावाड़ा सर्किल पर धरना दिया. पुलिस (Police) अधिकारियों के मुताबिक, वे हालात पर नजर रखे हुए हैं. जिले में 13 अप्रैल को शाम चार बजे तक इंटरनेट सेवा निलंबित कर दी गई है. हालात में सुधार होता देख कर्फ्यू पर फैसला लिया जाएगा. लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की जा रही है.

Check Also

राजस्थान में चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में शामिल किया गया ब्लैक फंगस का इलाज

जयपुर (jaipur) . राजस्थान (Rajasthan)सरकार ने ब्लैक फंगस बीमारी को प्रदेश में लागू ‘मुख्यमंत्री (Chief …