परभणी (महाराष्ट्र), 3 अप्रैल . विपक्षी महा विकास अघाड़ी (एमवीए) की सहयोगी भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) परभणी लोकसभा क्षेत्र में चुनाव लड़ेगी और शेष 47 सीटों पर गठबंधन के उम्मीदवारों का समर्थन करेगी. पार्टी के एक शीर्ष पदाधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी.

सीपीआई मुंबई के सचिव मिलिंद रानाडे ने कहा कि क्षेत्र के प्रसिद्ध सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ता राजन क्षीरसागर पार्टी के उम्मीदवार हैं.

सीपीआई उम्मीदवार का मुकाबला एमवीए-शिवसेना (यूबीटी) के मौजूदा सांसद संजय एच. जाधव, महायुति-राष्ट्रीय समाज पक्ष के महादेव जे. जानकर और प्रकाश अंबेडकर की वंचित बहुजन अघाड़ी (वीबीए) के उम्मीदवार बाबासाहेब बी. उगले से है.

रानाडे ने कहा, कॉलेज के दिनों से ही सीपीआई कार्यकर्ता रहे क्षीरसागर को किसानों के फसल बीमा दावों का भुगतान करने में विफलता के लिए रिलायंस जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के खिलाफ उनके अभियान के लिए जाना जाता है.

इसके अलावा, उन्होंने कठोर एमवीए कानूनों के खिलाफ ट्रक-चालकों को संगठित किया और अपनी पत्नी व प्रमुख कॉर्पोरेट-श्रम वकील माधुरी क्षीरसागर के साथ, स्थानीय नहर नेटवर्क के माध्यम से जिले के सभी लोगों को पानी की आपूर्ति सुनिश्चित करने का प्रयास कर रहे हैं.

रानाडे ने कहा कि सीट-बंटवारे की बातचीत के दौरान, सीपीआई ने एमवीए से परभणी या नासिक लोकसभा सीट आवंटित करने का अनुरोध किया था, लेकिन उन्हें अस्वीकार कर दिया गया, अब पार्टी ने क्षीरसागर को परभणी से मैदान में उतारने का फैसला किया है.

रानाडे ने कहा,“वह 8 अप्रैल को अपना नामांकन वापस नहीं लेंगे, न ही वह सरकार, पुलिस, ईडी, सीबीआई या आईटी से डरेंगेे. हम अन्य उम्मीदवारों पर कीचड़ उछालने में शामिल नहीं होंगे, लेकिन विफलताओं और विरोधियों पर चर्चा करेंगे.” –

एमवीए के घटक दलों ने अभी तक सीपीआई के इस कदम पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

/