धैर्य के साथ साहस आरएएफ की विशेषता है जिसके बल पर आपने सफलता का इतिहास रचा है: राज्यमंत्री नित्यानंद

नई दिल्ली (New Delhi) . केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने आज उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मेरठ (Meerut) में द्रुत कार्य बल (RAF) की 29वीं वर्षगाँठ पर आयोजित परेड की सलामी ली. इस अवसर पर केन्द्रीय रिज़र्व पुलिस (Police) बल (सीआरपीएफ) के महानिदेशक समेत बल के वरिष्ठ अधिकारी,जवान और उनके परिजन भी उपस्थित थे. नित्यानंद राय ने कहा किवर्ष 1992 के दौरान केन्द्रीय रिजर्व पुलिस (Police) बल में से आर.ए.एफ. के रूप में इस विशिष्ट बल का जन्म हुआ. तभी से यह बल राष्ट्र सेवा में सतत् एवं उत्कृष्ट योगदान देता आ रहा है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) (Prime Minister Narendra Modi) के नेतृत्व और गृहमंत्री अमित शाह के मार्गदर्शन में सीआरपीएफ (Central Reserve Police Force) ने हर प्रकार की परिस्थितियों के लिए विभिन्न रूप में बलों का संगठन बनाया है जिसमें आरएएफ देश में शांति व्यवस्था को सुनिश्चित करने में अहम् भूमिका निभाता है. आरएएफ देशवासियों के विश्वास पर हमेशा खरा उतरता रहा है.

गृह राज्य मंत्री ने कहा किकश्मीर से कन्याकुमारी तक एवं सुदूर पूर्व अरूणांचल प्रदेश से पश्चिम गुजरात (Gujarat) तक जहां भी,जब भी उपद्रव का माहौल बना,आर.ए.एफ. ने अपने नाम को चरितार्थ करते हुये बड़ी कुशलता से राष्ट्र विरोधी ताकतों को त्वरित गति से नियंत्रित करने में सफलता हासिल की है. उन्होने कहा कि आर.ए.एफ. अपनी कार्य पद्धति एवं शान्ति व्यवस्था कायम करने की अद्भुत क्षमता के कारण अन्य बलों में श्रेष्ठ माना जाता है. धैर्य के साथ साहस RAF की विशेषता है जिसके बल पर आपने सफलता का इतिहास रचा है.वर्तमान परिदृष्य में आर.ए.एफ. ने कठिन से कठिन क्षेत्रों में कानून व्यवस्था को संभाला है. यही कारण है कि गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने जनवरी 2018 में द्रुत कार्य बल की पांच नई वाहिनियों के गठन की स्वीकृति दी. नित्यानंद राय ने कहा किमुझे यह बताने में गर्व हो रहा है कि देश की आंतरिक सुरक्षा को बरकरार रखने हेतु प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए आर.ए.एफ. द्वारा एक अकेडमी (रेपो) भी स्थापित की गई है,जहॉं देश के ही नहीं बल्कि विदेशों के भी प्रशिक्षणार्थी,भीड़ एवं दंगा नियंत्रण का प्रशिक्षण प्राप्त करते हैं.आर.ए.एफ. ने देश के विभिन्न उपद्रव वाले स्थानों को बखूबी से समय-समय पर नियंत्रित किया है. जम्मू-कश्मीर में शान्ति बहाली में RAF का बहुत महत्वपूर्ण योगदान रहा है. राय ने कहा कि आज भी तनाव एवं उपद्रव के वातावरण में कानून व्यवस्था को नियंत्रित करने के लिए विभिन्न राज्यों के पुलिस (Police) बल सबसे पहले आर.ए.एफ. की तरफ देखते हैं और हर बार आर.ए.एफ. जनता का विश्वास जीतने में सफल होती है.

Check Also

एक्ट्रेस से ड्रग्स को लेकर बात कर रहे थे आर्यन

मुंबई (Mumbai) . ड्रग्स केस में बॉलीवुड (Bollywood) के सुपरस्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन …