सकारात्मक प्रचार के साथ चुनाव मैदान में उतरेगी कांग्रेस

नई दिल्ली (New Delhi) . पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) में कांग्रेस सकारात्मक प्रचार करेगी. चुनाव प्रचार में पार्टी मतदाताओं को यह समझाने की कोशिश करेगी कि आखिर उन्हें कांग्रेस को वोट क्यों देना चाहिए? चुनाव प्रचार में लोगों तक अपनी बात पहुंचाने के लिए पार्टी चुनाव प्रबंधन का जिम्मा संभालने वाली कंपनी का भी सहारा लेगी. कांग्रेस ने पंजाब (Punjab) और उत्तराखंड के लिए चुनाव प्रबंधन का जिम्मा संभालने वाली डिजाइन बॉक्स कंपनी के साथ समझौता किया है. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में पार्टी अपना प्रचार खुद संभालेगी. डिजाइन बॉक्स इससे पहले छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) और असम में पार्टी का चुनाव प्रचार संभाल चुकी है. असम में कांग्रेस के प्रचार की तारीफ भी हुई थी. वर्ष 2017 के पंजाब (Punjab) चुनाव में तत्कालीन मुख्यमंत्री (Chief Minister) कैप्टन अमरिंदर सिंह ने चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर की सेवाएं ली थीं. इस बार भी उन्होंने प्रशांत को मुख्य सलाहकार नियुक्त किया था, पर कैप्टन के मुख्यमंत्री (Chief Minister) पद से इस्तीफे से पहले ही प्रशांत ने सलाहकार पद से त्यागपत्र दे दिया था.

इसलिए, पार्टी ने नई कंपनी को चुनाव है. कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि चुनाव प्रबंधन का जिम्मा संभालने वाली कंपनी पंजाब (Punjab) में दशहरा के फौरन बाद और उत्तराखंड में दीपावली के आसपास काम संभाल लेगी. दोनों राज्यों में प्रचार रणनीति अलग होगी, क्योंकि एक राज्य में सरकार है और दूसरे प्रदेश में पार्टी विपक्ष में है. पर प्रचार सकारात्मक होगा. चुनाव रणनीति से जुड़े एक नेता ने कहा कि हम मतदाताओं को यह समझाएंगे कि उन्हें कांग्रेस को वोट क्यों देना चाहिए. कांग्रेस की नीतियां क्या है, किसानों के लिए क्या किया है और देश की अखंडता और एकता के लिए क्या कुर्बानियां दी हैं. ताकि उन्हें पोलिंग बूथ पर जाने से पहले यह पता हो कि वह कांग्रेस को वोट क्यों दे रहे हैं. पंजाब (Punjab) और उत्तराखंड में चुनाव प्रबंधन का जिम्मा संभालने वाली कंपनी असम में प्रचार का जिम्मा संभाल चुकी है. असम में इस कंपनी ने चुनाव घोषणा पत्र में लोगों की भागीदारी सुनिश्चित करते हुए लोगों की मांग पर पांच वादों को पूरा करने की गारंटी दी. इसमें युवाओं को रोजगार और महिलाओं के लिए गृहनी सम्मान मानदेय सहित फ्री बिजली और न्यूनतम मजदूरी में वृद्धि करना शामिल था.

Check Also

आयकर विभाग ने 18 अक्टूबर तक करदाताओं को रिफंड किए 92,961 करोड़ रुपए

नई दिल्ली (New Delhi) . देश के आयकर महकमें ने चालू वित्त वर्ष (2021-22) में …