कांग्रेस 10 सालों में विपक्ष का दायित्व भी ढंग से नहीं निभा पाई : पीएम मोदी – indias.news

नई दिल्ली, 5 फरवरी . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों पर तीखा हमला बोलते हुए कहा है कि विपक्षी नेताओँ ने जिस तरह का भाषण दिया है, उससे स्पष्ट नजर आ रहा है कि विपक्ष ने दशकों तक विपक्ष में ही बैठने का संकल्प ले लिया है और विपक्ष की इस हालत के लिए कांग्रेस जिम्मेदार है.

राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर लोकसभा में हुई चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने सदन में कहा कि विपक्ष ने जो संकल्प लिया है, उसकी सराहना करता हूं, उनके भाषण की एक-एक बात से मेरा और देश का विश्वास पक्का हो गया है कि इन्होंने लंबे अरसे तक वहां (विपक्ष में) रहने का संकल्प ले लिया है.

उन्होंने कहा कि आप जैसे दशकों तक यहां (सत्ता पक्ष में) बैठे थे, उसी तरह से दशकों तक वहां (विपक्ष में) बैठेंगे. जनता-जनार्दन तो ईश्वर का रूप होती है और आप लोग (विपक्ष) जिस तरह से इन दिनों मेहनत कर रहे हैं, मैं पक्का मानता हूं कि ईश्वर रूपी जनता-जनार्दन आपको पक्का आशीर्वाद देगी और आप अगले चुनाव में दर्शक दीर्घा में जरूर दिखेंगे.

प्रधानमंत्री ने बिना नाम लिए गांधी परिवार पर निशाना साधते हुए कहा कि आज सुनने में आ रहा है कि विपक्ष में से बहुत लोग चुनाव लड़ने का हौसला भी खो चुके हैं. बहुत से लोगों ने पिछली बार भी सीट बदली थी, बहुत से लोग इस बार भी बदलना चाहते हैं और उन्होंने सुना है कि कुछ लोग लोकसभा चुनाव लड़ने की बजाय अब राज्यसभा जाना चाहते हैं.

कांग्रेस पर तीखा हमला जारी रखते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आज विपक्ष की जो हालत हुई है, उसकी सबसे बड़ी दोषी कांग्रेस पार्टी है. कांग्रेस 10 सालों में विपक्ष का दायित्व भी ढंग से नहीं निभा पाई. विपक्ष के बाकी नेताओं को भी बढ़ने नहीं दिया.

उन्होंने कहा कि देश को एक अच्छे और मजबूत विपक्ष की जरूरत है. लेकिन, एक ही प्रोडक्ट को बार-बार लॉन्च करने के कारण अब कांग्रेस की दुकान पर ताला लगने की नौबत आ गई है.

विपक्षी बेंच की तरफ से उठ रहे सवालों पर प्रधानमंत्री ने राजनीति में परिवारवाद की परिभाषा को साफ करते हुए कहा कि इसके कारण ही अधीर रंजन चौधरी की यह हालत है, खड़गे इस सदन से उस सदन चले गए और गुलाम नबी आजाद ने तो पार्टी ही छोड़ दी. उन्होंने विपक्ष के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि ना राजनाथ सिंह की कोई पॉलिटिकल पार्टी है ना अमित शाह की कोई पार्टी है, ये साधारण परिवार से आते हैं.

एसटीपी/एबीएम