छिंदवाड़ा, 31 मार्च . मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि बीते साढ़े चार दशक में शिक्षा, सड़क और रोजगार के क्षेत्र में हुए कामों ने ही छिंदवाड़ा माॅडल बनाया है.

देश की राजनीति में कमलनाथ और छिंदवाड़ा एक दूसरे के पर्याय के तौर पर पहचाने जाते हैं. छिंदवाड़ा माॅडल की हमेशा चर्चा होती है. पिछले 45 साल में छिंदवाड़ा के विकास की कहानी कैसे लिखी गई. इसका जिक्र कमलनाथ ने लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवार अपने पुत्र नकुलनाथ के प्रचार में सौंसर विधानसभा के ग्राम तुर्कीखापा में जनसभा के दौरान की.

कमलनाथ ने साढ़े चार दशक की छिंदवाड़ा की विकास गाथा का जिक्र करते हुए कहा कि आज छिंदवाड़ा का नौजवान गर्व से कह सकता है कि वह छिंदवाड़ा का रहने वाला है.

उन्होंने नौजवानों को याद दिलाया कि पिछले 45 साल में छिंदवाड़ा के विकास की कहानी कैसे लिखी गई और उसके लिए कितना संघर्ष और समर्पण किया गया.

उन्होंने कहा कि 45 साल पहले छिंदवाड़ा में सड़क नहीं थी, जीप और कार चलाना भी मुश्किल था. लोगों ने रेलगाड़ी नहीं देखी थी, सिर्फ मालगाड़ी आती थी. आज छिंदवाड़ा में प्रदेश में सबसे अच्छे रोड बने हुए हैं.

विकास कार्यों का जिक्र करते हुए कमलनाथ ने कहा कि छिंदवाड़ा में नौजवानों को रोजगार देने के लिए बड़े इंस्टीट्यूट और स्किल डेवलपमेंट सेंटर खोले गए हैं. सातवीं-आठवीं पास नौजवान भी आज अच्छा रोजगार पा सकें, इसके लिए ड्राइविंग लर्निंग स्कूल खुलवाया गया था. शिक्षा, सड़क, उद्योग और रोजगार के दम पर छिंदवाड़ा मॉडल बनाया गया है.

एसएनपी/एबीएम