सीबीएसई रिजल्ट : ‘स्पेशल नीड’ वाले 43 छात्रों ने हासिल किए 95 फीसदी से अधिक अंक

Photo of author

नई दिल्ली, 13 मई . सीबीएसई ने 12वीं कक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया है. इस बार परीक्षा में कुल 16 लाख 21 हजार 224 छात्र शामिल हुए थे, जिनमें से 87.98 प्रतिशत छात्र पास हुए हैं. बोर्ड के मुताबिक पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष 0.65 फीसदी अधिक छात्र पास हुए हैं.

बोर्ड परीक्षाओं में कुल 1,22,170 छात्रों की कंपार्टमेंट आई है. सीबीएसई की 12वीं परीक्षा में 24,068 छात्रों ने 95 प्रतिशत से अधिक अंक हासिल किए हैं. 95 प्रतिशत या उससे अधिक अंक लाने वाले छात्रों की संख्या करीब 1.48 प्रतिशत है. वहीं, 7 प्रतिशत से अधिक छात्र 90 फीसदी से अधिक अंक लाने में सफल रहे. कुल 1,16,145 छात्र ऐसे हैं, जिनके 90 प्रतिशत से अधिक अंक हैं.

‘स्पेशल नीड’ वाले 43 छात्रों ने 95 प्रतिशत से अधिक अंक हासिल किए हैं, जबकि 262 छात्र ऐसे रहे, जिन्होंने 90 फीसदी से अधिक अंक हासिल किए हैं. इस वर्ष ‘स्पेशल नीड’ वाले 5,019 छात्र सीबीएसई 12वीं परीक्षा में शामिल हुए थे. इनमें से 4,548 छात्र पास हुए हैं. इनका कुल पास प्रतिशत 90.62 प्रतिशत है.

बोर्ड ने इस वर्ष टॉपर लिस्ट जारी नहीं करने का निर्णय लिया है. सीबीएसई के मुताबिक उन्होंने रिजल्ट के साथ किसी भी प्रकार के टॉपर्स की लिस्ट नहीं बनाई है. रीजन वाइज सबसे बेहतरीन नतीजे की बात की जाए तो त्रिवेंद्रम लिस्ट में टॉप पर है. त्रिवेंद्रम रीजन के 99.91 प्रतिशत छात्र 12वीं बोर्ड परीक्षा में पास हुए हैं.

दिल्ली की बात की जाए तो दिल्ली पूर्वी क्षेत्र में 94.51 प्रतिशत छात्र पास हुए हैं. यहां कुल 1,74,133 छात्रों ने 12वीं बोर्ड की परीक्षा दी थी, जिनमें से 1,64,568 छात्र पास हुए हैं. दिल्ली पश्चिम क्षेत्र की बात करें तो यहां 95.64 प्रतिशत छात्र पास हुए हैं. यहां कुल 1,21,659 छात्र परीक्षा में शामिल हुए थे, जिनमें से 1,16,357 छात्र पास हुए हैं.

विदेशी छात्रों की बात की जाए तो सीबीएसई 12वीं के लिए कुल 20,355 छात्र इन परीक्षाओं में शामिल हुए थे. इनमें से 95.84 प्रतिशत यानी 19,508 छात्र पास हुए हैं. 12वीं बोर्ड के नतीजे में हर बार की तरह इस बार भी लड़कियों का प्रदर्शन लड़कों के मुकाबले कहीं अधिक बेहतर है. बोर्ड के मुताबिक 91.52 प्रतिशत लड़कियां और 85.12 प्रतिशत लड़के इन परीक्षाओं में पास हुए हैं. लड़कियों का पास प्रतिशत लड़कों के मुकाबले 6.40 प्रतिशत बेहतर है.

जीसीबी/एबीएम