सीबीएसई ने तैयार किया 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं के पहले चरण का शेड्यूल

नई दिल्ली (New Delhi) . सीबीएसई बोर्ड 10वीं-12वीं के लाखों छात्रों के लिए पहले चरण की बोर्ड परीक्षा का कार्यक्रम तैयार कर लिया है. पहले चरण में भी छात्रों के लिए परीक्षाएं दो हिस्सों में विभाजित की जा सकती हैं. पहले छोटे या कम महत्वपूर्ण विषयों की परीक्षा ली जाएगी और उसके बाद प्रमुख विषयों की परीक्षा ली जाएगी. परीक्षा कार्यक्रम 8 सप्ताह लंबा हो सकता है और यह मार्च-अप्रैल में होने वाली दूसरे चरण की बोर्ड परीक्षा के मुकाबले अलग होगा.

सीबीएसई बोर्ड के मुताबिक पहले चरण की बोर्ड परीक्षाओं से पहले प्रैक्टिकल परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी. बोर्ड का कहना है कि 10वीं कक्षा के 20 अंकों के आंतरिक मूल्यांकन को भी दस-दस अंकों में विभाजित किया जाएगा. वहीं 12वीं कक्षा के लिए इसे 15-15 अंकों के दो हिस्सों में बांटा जा रहा है. कोरोना संक्रमण के कारण सीबीएसई 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षा दो चरण में आयोजित की जा रही है. पहले चरण की परीक्षा का शेड्यूल 18 अक्टूबर को जारी किया जाएगा.

इस बार बोर्ड परीक्षा के छात्रों को 20 मिनट का रीडिंग टाइम दिया जाएगा. पहले यह समय 15 मिनट का था. पहले चरण की बोर्ड परीक्षाओं में बहुविकल्पीय वस्तुनिष्ठ प्रश्न (एमसीक्यू) होंगे. पहले सत्र की बोर्ड परीक्षाएं नवंबर-दिसंबर, 2021 में आयोजित की जा रही हैं. इनकी अवधि 90 मिनट होगी. हालांकि परीक्षा परिणाम मार्च अप्रैल में होने वाली दूसरे चरण की परीक्षा के बाद जारी किया जाएगा.

दरअसल सीबीएसई बोर्ड पहले ही 10वीं एवं 12वीं कक्षा का सिलेबस दो हिस्सों में बांट चुका है. देश भर के सीबीएसई स्कूलों ने अगले महीने बोर्ड परीक्षाओं में शामिल होने वाले लाखों छात्रों का डेटा यानी लिस्ट आफ केंडिडेटस (एलओसी) तैयार कर ली है. देशभर के ऐसे सभी स्कूल जो सीबीएसई से एफिलिएटेड हैं, उन्हें अपने छात्रों की आधिकारिक एलओसी सीबीएसई के संबंधित पोर्टल पर अपलोड कर दी है. गौरतलब है कि देशभर के विभिन्न उच्च शिक्षण संस्थानों में सीबीएसई के छात्रों को काफी अच्छी संख्या में दाखिला मिलता रहा है. दिल्ली विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार विकास गुप्ता ने बताया कि पहली कट आफ के आधार पर ही 7 अक्टूबर अंत तक सीबीएसई बोर्ड के 31,172 उम्मीदवार को दिल्ली विश्वविद्यालय के अंडर ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों में दाखिला मिल चुका है.

Check Also

ताइवान में अनुकूल परिस्थितियों से बुजुर्गों के जीवन में आया सुख-संतोष, औसत उम्र बढ़ी

  ताइपे . ताइवान के लोग पहले की तुलना में लंबा जीवन जी रहे हैं …