CBSE बोर्ड ने डायबिटिक स्टूडेंट्स के लिए जारी की गाइडलाइन, जानिए कैसे फल और दवाएं ले जा सकेंगे एग्जाम सेंटर – indias.news

15 फरवरी से 10वीं और 12वीं CBSE बोर्ड एग्जाम शुरू होने जा रहे हैं. इसके एडमिट कार्ड भी जारी हो चुके हैं. CBSE बोर्ड की एग्जाम गाइडलाइन के साथ ही CBSE ने एक ओर गाइडलाइन जारी की है.

जहां स्टूडेंट को फल के साथ ही दवाएं, पानी ले जाने की भी परमिशन दी जाएगी.

डायबिटीज स्टूडेंट को राहत

CBSE बोर्ड डायबिटीज के स्टूडेंट को एग्जाम सेंटर में फल, पानी की बोतल और ग्लूकोमीटर ले जाने की परमिशन दी गई है. 8 फरवरी को जारी किए गए नोटिस में कहा गया है कि स्टूडेंट्स को ट्रांसपेरेंट पैकेट में ले जाने की परमिशन होगी.

पोर्टल पर अपलोड होंगे डॉक्यूमेंट

रजिस्ट्रेशन के समय स्टूडेंट्स को ये बताना होगा कि वे टाइप-1 डायबिटीज के पेशेंट हैं. स्टूडेंट को बोर्ड एग्जाम में इसका फायदा लेने के लिए डॉक्यूमेंट को पोर्टल पर अपलोड करना होगा.

इसमें एग्जाम के दौरान CGM/FGM/इंसुलिन पंप के साथ ही डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन भी शामिल किए जाएंगे. इसका फायदा लेने के लिए स्कूल/स्टूडेंट/पेरेंट्स को CBSE के प्रोग्राम को देखते हुए अप्लाई करना होगा. इसका शेड्यूल खत्म होने के बाद इस सुविधा का फायदा स्टूडेंट्स को नहीं मिल पाएगा.

स्टूडेंट्स या पेरेंट्स को इसकी जानकारी एग्जाम सेंटर को एक दिन पहले देनी होगी. सभी एप्लीकेशन डॉक्यूमेंट स्कूल के जरिए ही भेजे जाएंगे. इस पर CBSE बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर आप गाइडलाइंस देख सकते हैं. CBSE की तरफ से किया गया एक अच्छा फैसला है.