SCIENCE

नर चूहों को गर्भाशय जोड़कर बच्चे पैदा करने कर रहे मजबूर, चीनी वैज्ञानिकों का चूहें झेल रहे अब अत्याचार

पेइचिंग . चीनी वैज्ञानिक अब नर चूहों पर अत्याचार कर रहे हैं. वैज्ञा‎निक अब नर चूहों में गर्भाशय जोड़कर बच्चे पैदा करने को मजबूर कर रहे हैं. चीनी वैज्ञानिक विले फ्रेंकसाइंस स्टडी के तहत नर चूहों से सिजेरियन तकनीकी से बच्चा पैदा करने के लिए मजबूर कर रहे हैं. इसमें नर चूहे को किसी मादा चूहे के साथ जोड़ा जा …

Read More »

महाराष्ट्र के यवतमाल में 150 करोड़ साल पहले था समुद्र! जीवाश्म की खोज से अंदाजा

-ये पृथ्वी पर जीवन की उत्पत्ति के समय सागर के उथले गर्म पानी में विकसित हुए थे: प्रो चोपणे -अब तक 340 करोड़ साल सबसे पुराना जीवाश्म ऑस्ट्रेलिया के पिलबारा क्रेटॉन में खोजा गया है यवतमाल . महाराष्ट्र (Maharashtra) के यवतमाल जिले के वणी में पर्यावरण एवं भूगोल विशेषज्ञ प्रो सुरेश चोपणे ने एक 150 करोड़ साल प्राचीन जीवाश्म को …

Read More »

शुगर की दवा बचाती है फेफड़ों को संक्रमण से, ताजा अध्यययन में ‎किया गया दावा

एक ताजा अध्ययन में दावा ‎‎किया गया है ‎कि कोरोना की वजह से होने वाले फेफड़ों के संक्रमण को रोकने में शुगर रोगियों द्वारा ली जाने वाली दवा मेटफॉर्मिन मदद करती है. इस संबंध में डॉक्‍टरों का कहना है फिलहाल कोरोना में ऑक्‍सीजन और स्‍टेरॉयड ही दो प्रमुख उपचार हैं. शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ने पर रोगियों को मेटफॉर्मिन …

Read More »

10 करोड़ साल पहले के एक घोंघे का अवशेष संरक्षित मिला – ‘गोंद’ में छिपा मिला घोंघा परिवार

बर्लिन . वैज्ञानिकों को करीब 10 करोड़ साल पहले के एक घोंघे का अवशेष संरक्षित मिला है. यह घोघा जिस मादा का है उसने जीवाश्म बनने से कुछ ही वक्त पहले बच्चे को जन्म दिया होगा. वह भी उसी ऐंबर में संरक्षित है जिसमें मादा घोंघा मिली है. सेंकेनबर्ग रिसर्च इंस्टिट्यूट ऐंड नैचरल हिस्ट्री म्यूजियम, फ्रैंकफर्ट और नैचल हिस्ट्री म्यूजियम …

Read More »

सबसे बड़ी शार्क बहुत हुआ करती थीं खतरनाक -वैज्ञानिकों ने इनके दांतों के आकार से लगाया था पता

लंदन . वैज्ञा‎निकों ने लंबे शोध के बाद दावा किया है ‎कि जीवाश्म विज्ञान में पृथ्वी पर अब तक की पाई गईं सबसे बड़ी शार्क बहुत खतरनाक हुआ करती थीं. मेगालोडोन नाम की इन शार्क के बारे में जीवाश्म रिकॉर्ड से पता चला है. इस र्शाक के बहुत ही बड़े दांतों ने इनके बारे में सबसे ज्यादा जानकारी दी है …

Read More »

कितने जोर से काटते थे T-Rex Dinosaur के बच्चे, अध्ययन के नतीजों से पता चली चौकाने वाली बात

लंदन . हाल ही में टी रेक्स डायनासोर के बच्चों के जीवाश्म से उसके काटने की क्षमता का अध्ययन करने के मौका मिला तो नतीजों ने कुछ चौंकाने वाली बातें बताईं. जीवाश्म विज्ञानी जैक त्सेंग की काटने वाले जानवरों में बहुत दिलचस्पी रही है. यही वजह थी कि जब उन्हें एक टारोनोसॉरस रेक्स के बच्चों का दांतों के निशान एक …

Read More »

पृथ्वी के बाहर का जीवन हमसे ज्यादा दूर नहीं, ताजा अध्ययन से जीवन मिलने की उम्मीद बढ़ी

लंदन . ताजा अध्ययनों से लग रहा है कि पृथ्वी के बाहर का जीवन हमसे ज्यादा दूर नहीं है. हाल ही में बाह्यग्रहों की पड़ताल करने वाली टीम ने दर्शाया है कि हमारा सौरमंडल कोई बहुत अनोखा नहीं है बल्कि इसके जैसे कई सिस्टम मौजूद हैं. सौरमंडल की विविधाताओं के बारे में पता करने का एक ही तरीका है. वह …

Read More »

सैटेलाइट के अनुमान हो सकते हैं वास्तविकता से कम, दशकों से गलत गणना कर रहे थे सैटेलाइट

लंदन . नए अध्ययन से पता चला है कि सैटेलाइट ने पिछले 40 सालों में जो वायुमंडल के गर्म होने के अनुमान लगाए हैं वे वास्तविकता से कम हो सकते हैं. हवा के तापमान और उसकी नमी का गहरा संबंध होता है लेकिन इस अध्ययन के मुताबिक बहुत से क्लाइमेट मॉडल्स में उपयोग किए जाने वाले मापन में इस संबंध …

Read More »

साफ पानी की झीलों से कम हो रही ऑक्सीजन, शोधकर्ताओं ने जताई चिंता

लंदन . दुनिया में ऐसे बहुत से छोटे पारिस्थितिकी तंत्र हैं जिनका अस्तित्व खतरे में है. ऐसा ही तंत्र हैं साफ पानी की झीलें. हालिया अध्ययन बताता है कि इनकी ऑक्सीजन तेजी से कम हो रही है. इससे यहां का पूरा जीवन और पारिस्थितिकी तंत्र खतरे में पड़ गया है. आमतौर पर जलवायु के मामले में झीलों को गंभीरता से …

Read More »

लंबे समय तक बनी रहती रोग प्रतिरोधक क्षमता -अमेरिका में हुए अध्ययन में किया गया दावा

नई दिल्ली . एक ताजा अध्ययन में दावा ‎किया गया है ‎कि कोरोना के मामूली संक्रमण से निपटने के कुछ महीने बाद भी लोगों में प्रतिरक्षी कोशिकाएं होती हैं जो कोरोना (Corona virus) के खिलाफ रोग प्रतिरोधक क्षमता उत्पन्न करती हैं. अमेरिका के सेंट लूइस में वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं ने कहा कि इस तरह की कोशिकाएं …

Read More »

चंद्रमा पर पहला मोबाइल रोबोट भेजेगी नासा – बर्फ की तलाश करेगा यह अत्‍याधुनिक रोबॉट

वॉशिंगटन . वर्ष 2023 में नासा चंद्रमा पर अपना पहला मोबाइल रोबॉट भेजने जा रही है. यह घोषणा स्वयं अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने की है. इस महत्वपूर्ण ‎‎मिशन को नासा ने वाइपर मिशन नाम दिया है. इसका मकसद चंद्रमा की सतह के अंदर बर्फ तथा अन्‍य प्राकृतिक संसाधनों की तलाश करना है. इस रोबॉट को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव …

Read More »

हमारी आकाशगंगा न तो सबसे बड़ी है, न सबसे पुरानी और न ही सबसे विशाल

कैनबरा . एस्ट्रोफिजिकल जर्नल लैटर्स में प्रकाशित शोध के अनुसार हमारी आकाशगंगा के स्वरूप के महत्वपूर्ण विवरण का मिलान अगर आसपास की आकाशगंगाओं के साथ किया जाए तो पता चलता है कि हमारा घर कुछ इतना भी खास नहीं है. पहली नजर में इस बात पर संदेह करने का कोई कारण नहीं है कि ब्रह्मांड के अध्ययन योग्य भाग में …

Read More »

वैज्ञानिकों को टाइटन पर जीवन होने की उम्मीद -मिशन के लिए नासा की तैयारी

लंदन . वैज्ञा‎निकों को मंगल के अलावा सौरमंडल में टाइटन पर जीवन होने की पूरी उम्मीद है. इसके अध्ययन के लिए अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने ग्रांट दिया है. दिलचस्प बात यह है कि धरती पर वापसी के सफर के लिए ईंधन टाइटन में बह रहीं मीथेन की झीलों से लेने का प्लान है. नासा ने हाल ही में नासा …

Read More »

चीन ने मंगल ग्रह पर अंतरिक्ष यान उतारा

बीजिंग. चीन ने शनिवार (Saturday) को मंगल ग्रह पर अपना अंतरिक्ष यान उतारकर एक बड़ी सफलता हासिल की है. सरकारी मीडिया (Media) ने चीनी राष्ट्रीय अंतरिक्ष प्रशासन(सीएनएसए) के हवाले से अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी. रिपोर्ट के मुताबिक अंतरिक्ष यान तियानवेन-1 मंगल ग्रह के उत्तरी गोलार्द्ध पर यूटोपिया प्लैनिटिया के दक्षिणी भाग में अपने पूर्व-चयनित लैंडिंग क्षेत्र में स्थानीय …

Read More »

गगनयान पर नजर रखने के लिए संचार उपग्रह लॉन्च करेगा इसरो

नई दिल्ली (New Delhi) . भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) इसरो एक डाटा रिले सैटेलाइट को अंतरिक्ष में भेजने की तैयारी कर रहा है. यह सैटेलाइट गगनयान अभियान को लांच किए जाने के बाद उसके साथ संपर्क बनाए रखने में मदद करेगी. यह सैटेलाइट गगनयान अभियान के आखिरी चरण से ठीक पहले अंतरिक्ष में भेजी जाएगी. आखिरी चरण में भारत …

Read More »

हिमालय की गैर-एकरूपता से बहुत बड़े भूकंपीय घटनाओं का अनुमान

नई दिल्ली (New Delhi) . वैज्ञानिकों ने पाया है कि हिमालय एकरूप नहीं है और उनका अनुमान है कि विभिन्न दिशाओं में विभिन्न भौतिक एवं यांत्रिकी गुण हैं क्रिस्टल में उपस्थित एक गुण को एनिसोट्रोपी कहा जाता है जिसका परिणाम हिमालय में उल्लेखनीय रूप से बड़ी भूकंपीय घटनाओं के रूप में सामने आ सकता है. गढ़वाल और हिमाचल प्रदेश (Himachal …

Read More »

विशाल तारे में महाविस्‍फोट से आकाश चमकेगा

नासा . आने वाले दिनों में एक विशाल तारे में महाविस्‍फोट की घटना होने जा रही है. इसकी चमक इतनी तेज होगी कि भरे दिन में भी आकाश चमकीला हो जाएगा और देखने वालों की आंखें चौंधिया जाएंगी. खगोल विज्ञान की भाषा में इसे सुपरनोवा इवेंट कहते हैं. यानी एक तारे की मृत्‍यु. जिस तारे में यह विराट विस्‍फोट होगा …

Read More »

नासा के मार्स रोवर परसिवरेंस ने खींची फोटो

वा‎शिंगटन . अमे‎रिकी अंत‎रीक्ष एजेंसी नासा के मार्स रोवर परसिवरेंस ने एक फोटो खींची है, जिसमें मंगल ग्रह क आसमान में रेनबो दिखाई दे रहा है. यह रेनबोदेखने में काफी खूबसूरत (Surat) है. ऐसा पहली बार हुआ है जब रोवर ने धरती से इतनी दूर कोई चीज को कैमरे में कैप्चर की हो. इस बात की जानकारी नासा ने ट्वीट …

Read More »

सुपरनोवा विस्फोट से सबसे गर्म में से एक तारे का पता लगा

नई दिल्ली (New Delhi) . भारतीय खगोलविदों ने एक दुर्लभ सुपरनोवा विस्फोट की निगरानी कीजिससे एक वुल्फ-रेएट तारे या डब्ल्यूआर तारे नाम से सबसे गर्म तारों में से एक के बारे में पता लगा है. दुर्लभ वुल्फ-रेएट तारे सूर्य से 1000 गुना (guna) अधिक प्रकाशमान होते हैं जिससे खगोलविद लंबे समय तक संशय में रहे. वह आकार में बहुत बड़े …

Read More »

त्वचा की कोशिकाओं से लैब में बनाया इंसानी भ्रूण

लंदन . पिछले दिनों अमेरिकी और ऑस्ट्रेलियाई वैज्ञानिकों के दो समूहों ने स्त्री के अंडाणु और पुरुष के शुक्राणु के बिना ही मानव भ्रूण की शुरुआती संरचना यानी ब्लास्टोसिस्ट बना दी. वह भी गर्भाशय में नहीं, बल्कि अपनी लैबोरेट्री की पेट्री डिश में. पेट्री डिश कांच की एक छोटी सी प्लेट होती है, जिनमें वैज्ञानिक अपने प्रयोग करते हैं. आसान …

Read More »

शोधकर्ताओं को स्पेस में 2 अरब प्रकाशवर्ष दूर गैलेक्सी में दिखी ‘जेलीफिश’

कैनबेरा . शोधकर्ताओं ने अंतरिक्ष में जेलीफिश देखी है. दरअसल यह असली की नहीं है बल्कि प्लाज्मा से बनी हुई है. धरती से देखे जाने पर यह चांद की एक-तिहाई है. पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया में मरचिनसन वाइडफील्ड ऐरे (एमडब्ल्यूए) टेलिस्कोप की मदद से ऑस्ट्रेलिया-इटली की टीम ने एबैल2877 गैलेक्सी क्लस्टर को ऑब्जर्व दिया और 12 घंटे बाद उन्हें जेलीफिश जैसा फीचर …

Read More »

कभी समुद्र से चौतरफा ढकी थी पृथ्‍वी, हर तरफ इतना पानी क‍ि एवरेस्‍ट भी डूब जाए: शोध

वॉश‍िंगटन . अरबों जीवों का प्राकृतिक आवास हमारी पृथ्‍वी एक समय में एक वैश्विक समुद्र से ढकी हुई थी. हर तरफ बस पानी ही पानी था. यह पानी इतना ज्‍यादा था कि धरती के सबसे ऊंचे पर्वत माउंट एवरेस्‍ट को अगर उसमें डाला जाता तो वह भी डूब जाता. हावर्ड यूनिवर्सिटी के ताजा शोध में कहा गया गया है कि …

Read More »

नासा ने सबसे शक्तिशाली रॉकेट की कोर स्टेज को टेस्ट किया, प्रयोग की सफलता पर जताई खुशी

मिसीसिपी . अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने अपने मेगा-रॉकेट की कोर स्टेज को टेस्ट किया. ‘हॉट फायर’ कहे जाने वाले इस टेस्ट में चार आरएस-25 इंजिन टेस्ट किए गए. करीब 8 मिनट तक इन्हें चलाया गया. इतना ही समय अपर-स्टेज रॉकेट और ऑर्बिट में स्पेसशिप को डिलीवर करने के लिए लगेगा. रॉकेट टेस्ट के दौरान टेस्ट स्टैंड से धुएं का …

Read More »