देश के मठ-मंदिरों को सरकारी नियंत्रण से मुक्त कराने विश्व हिन्दू परिषद का अभियान


नई दिल्ली (New Delhi) . देश के मठ-मंदिरों को सरकारी नियंत्रण से मुक्त कराने के लिए विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) अभियान चलने वाली है. विहिप के महासचिव मिलिंद परांडे ने बताया कि हम जग जागरुकता अभियान के माध्यम से सरकार पर दबाव बनाएंगे कि मंदिरों को सरकारी नियंत्रणों से मुक्त करने के लिए कानून बनाया जाए.

परांडे ने कहा कि इस मामले को लेकर विहिप अपने स्तर पर राज्य सरकारों के साथ वार्ता करेगी और अगर इस मुद्दे को लेकर कानूनी लड़ाई लड़नी पड़ी तो हम उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाएंगे. विहिप महासचिव मिलिंद परांडे ने सवाल उठाया कि केवल हिन्दुओं के धार्मिक पूजा स्थलों को ही सरकारी नियंत्रण में क्यों लिया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि न सिर्फ य भेदभाव है बल्कि हिन्दू संस्कृति के खिलाफ भी है. रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने कहा कि मंदिर से संबंधित जमीनों का इस्तेमाल तथाकथित ‘धर्मनिरपेक्ष’ उद्देश्यों को लिए किया जा रहा है. विहिप नेता ने कहा कि दानदाताओं ने जिस भाव से दिया था, वो धार्मिक और भगवान की सेवा के लिए था. उन्होंने कहा कि मंदिर के संसाधनों का इस्तेमाल केवल हिन्दू धर्म के बारे में जागरुकता फैलाने के लिए किया जाना चाहिए.

Check Also

फ्रेट कॉरिडोर पर यह काम कोविड से जुड़ी चुनौतियों के बावजूद आगे बढ़ा

नई दिल्ली (New Delhi) . भारतीय रेल के सार्वजनिक उपक्रम, डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कॉरपोरेशन ऑफ …