छत्तीसगढ़ में धान खरीदी में 20 साल का टूटा रिकॉर्ड

रायपुर (Raipur) (Raipur) . छत्तीसगढ़ में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी का 20 साल का रिकॉर्ड टूट गया है. राज्य में अब तक का सर्वाधिक 84.44 लाख मीट्रिक टन धान खरीदा गया है, जो बीते साल खरीदे गए कुल धान 83.94 लाख मीट्रिक टन से 50 हजार मीट्रिक टन अधिक है. हालां‎कि समर्थन मूल्य पर धान खरीदने में अभी 10 दिन और बाकी हैं. जानकारी के मुता‎बिक अब तक राज्य के 19 लाख 54 हजार 332 किसानों ने समर्थन मूल्य पर धान बेच चुके हैं. कस्टम मिलिंग के लिए मिलर्स को 27 लाख 70 हजार 693 मीट्रिक टन धान का डी.ओ. जारी किया जा चुका है, जिसके विरूद्ध अब तक 25 लाख 45 हजार 512 मीट्रिक टन धान का उठाव कर लिया गया है. ‎

रिपोर्ट के अनुसार, प्रदेश में वर्ष 2017-18 में जहां 56.88 लाख मीट्रिक टन और वर्ष 2018-19 में 80.83 लाख मीट्रिक तथा वर्ष 2019-20 में 83.94 लाख मीट्रिक टन धान समर्थन मूल्य पर क्रय किया गया था. पंजीकृत किसानों की संख्या में भी साल-दर-साल बढ़ोत्तरी हुई है. वर्ष 2017-18 में धान बेचने के लिए पंजीकृत किसानों की संख्या 15.77 लाख थी, वह वर्ष 2018-19 में बढ़कर 16.96 लाख तथा वर्ष 2019-20 में बढ़कर 19.55 लाख हो गई थी.

बता दें ‎कि इस साल समर्थन मूल्य पर धान बेचने के लिए पंजीकृत किसानों की संख्या में भी रिकॉर्ड बढ़ोत्तरी हुई है, जो 21.52 लाख है. खरीफ वर्ष 2020-21 में 21 जनवरी 2021 तक राज्य के रायगढ़ जिले में 4 लाख 98 हजार 428 मीट्रिक टन, बालोद जिले में 4 लाख 96 हजार 276, बेमेतरा जिले में 5 लाख 70 हजार 736, दुर्ग जिले में 3 लाख 81 हजार 633, कवर्धा जिले में 3 लाख 86 हजार 87, राजनांदगांव जिले में 7 लाख 3 हजार 423, बलौदाबाजार जिले में 6 लाख 4 हजार 191, धमतरी जिले में 4 लाख 7 हजार 864, गरियाबंद जिले में 2 लाख 94 हजार 996, महासमुंद जिले में 6 लाख 38 हजार 190, रायपुर (Raipur) (Raipur) जिले में 4 लाख 68 हजार 276 मीट्रिक टन समेत सभी जिलों में अच्छी धान खरीदी हुई है.

Check Also

55 एकड़ की अवैध प्लाटिंग

बिलासपुर (Bilaspur) . बिल्हा ब्लॉक के धमनी गांव में 55 एकड़ क्षेत्र में धड़ल्ले से …