‎तिबंध के बाद भी दिल्ली में पटाखों की कालाबाजारी

नई ‎दिल्ली . दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) ने राजधानी में 1 जनवरी 2022 तक सभी तरह के पटाखे फोड़ने और बेचने पर रोक लगा दी है. डीपीसीसी के आदेश में कहा गया है कि जिलाधिकारियों और पुलिस (Police) उपायुक्तों को निर्देशों को लागू करने के लिए कहा गया है. इस आदेश के बाद दशहरे और दीवाली से पहले पुलिस (Police) एक्टिव हो गयी है.

पटाखों की जानकारी मिलने पर पुलिस (Police) छापेमारी कर रही हैं. उत्तरी दिल्ली के सदर बाजार इलाके में एक गोदाम से 470 किलोग्राम से ज्यादा अवैध पटाखे बरामद किए गए और पु‎लिस ने गोदाम मे मा‎लिक को गिरफ्तार किया गया. पुलिस (Police) ने बताया कि आरोपी मोहम्मद रिहान (21) उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) का रहने वाला है और वह त्यौहार के दौरान चीजें बेचने का काम करता है. पुलिस (Police) ने कहा कि यहां गोदाम से कुल 472.4 किलोग्राम अवैध पटाखे बरामद किए गए और गोदाम 12 हजार रुपए किराए पर लिया गया था. पुलिस (Police) ने कहा कि आरोपी ने अवैध पटाखे उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मेरठ (Meerut) से खरीदे थे और दिवाली पर ऊँचे दाम पर बेचने का उसका इरादा था. दिल्ली में स्वास्थ्य के मुद्दे प्रचलित महामारी (Epidemic) संकट की स्थिति के तहत, वायु प्रदूषण और श्वसन संक्रमण के बीच महत्वपूर्ण संबंध को देखते हुए, वायु प्रदूषकों के संभावित उच्च स्तर के जोखिम के कारण छोटे और दीर्घकालिक प्रतिकूल स्वास्थ्य प्रभावों को देखते हुए, यह बड़े सामुदायिक स्वास्थ्य के लिए अनुकूल नहीं है.
 

Check Also

सोने , चांदी की कीमतों में गिरावट

नई दिल्ली (New Delhi) . घरेलू बाजार में बुधवार (Wednesday) को सोने, चांदी (Silver) की …