मुलायम से मिलने पहुंचे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, दिया सपा में आने का न्यौता

लखनऊ (Lucknow) . पूर्व मुख्यमंत्री (Chief Minister) तथा राज्यपाल कल्याण सिंह के निधन पर समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव भले ही शोक व्यक्त करने नहीं जा सके हों, लेकिन भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने जन्माष्टमी पर उनके आवास पर जाकर उनके स्वास्थ्य का हाल जाना. इस दौरान भी सपा प्रमुख मुलायम ने स्वतंत्र देव सिंह को समाजवादी पार्टी में शामिल होने का न्यौता दे दिया.

स्वतंत्र देव सिंह और मुलायम की मुलाकात के सियासी मायने निकाले जाने लगे हैं. माना जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने लखनऊ (Lucknow) में पूर्व मुख्यमंत्री (Chief Minister) स्वर्गीय कल्याण सिंह की श्रद्धांजलि सभा में आने के लिए ने सपा संरक्षक को निमंत्रण दिया है. भाजपा ने इस मुलाकात के जरिए यह संदेश देने की भी कोशिश की है कि मतभेद भले हों लेकिन मनभेद नहीं होने चाहिए, साथ ही सियासी शिष्टाचार बहुत जरूरी है. स्वतंत्रदेव ने मुलायम सहित पूरे परिवार को श्रद्धांजलि सभा में आने का न्यौता दिया है. राजनीति के माहिर खिलाड़ी और धरतीपुत्र कहे जाने वाले मुलायम सिंह ने उल्टे स्वतंत्रदेव सिंह को अपने ही अंदाज में सपा में शामिल होने का ऑफर दे दिया.

जन्माष्टमी पर मुलायम के साथ भेंट की तस्वीर खुद स्वतंत्र देव सिंह ने ही ट्वीट की. पूर्व मुख्यमंत्री (Chief Minister) कल्याण के निधन पर मुलायम और अखिलेश के श्रद्धांजलि देने न पहुंचने पर पहला हमला स्वतंत्र देव सिंह ने ही बोला था. उन्होंने 24 अगस्त को ट्वीट किया था अखिलेश अपने आवास से मात्र एक किलोमीटर दूर माल एवेन्यू में स्वर्गीय कल्याण सिंह ‘बाबूजी’ को श्रद्धांजलि देने नहीं आ सके. कहीं मुस्लिम वोट बैंक (Bank) के मोह ने उन्हें पिछड़ों के सबसे बड़े नेता को श्रद्धांजलि देने से तो नहीं रोक लिया, लेकिन अब उनकी मुलाकात के बहाने भाजपा ने एक तरफ तो राजनीतिक शिष्टाचार का संदेश दिया ही है, कल्याण सिंह मसले पर गेंद सपा के पाले में डाल दी है. सपा भी मामला अपने खिलाफ जाते देख सक्रिय होकर अखिलेश के रीट्वीट ने सियासी पारा और चढ़ा दिया. अखिलेश ने सपा के डिजिटल मीडिया (Media) हेड मनीष जगन अग्रवाल के एक ट्वीट को रीट्वीट किया जिसके मुताबिक नेताजी ने स्वतंत्र देव को सपा ज्वाइन करने का ऑफर दिया. इस ट्वीट में ये भी कहा गया है कि भाजपा में पिछड़ों और दलितों की अनदेखी की वजह से शायद स्वतंत्र देव सिंह नाराज हैं.

Check Also

लखीमपुर हिंसा- राहुल गांधी पीड़ित किसान लवप्रीत के घर पहुंचे, बोले- न्याय मिलने तक चलेगा सत्याग्रह

लखनऊ (Lucknow) . उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के लखीमपुर जिले में हुई हिंसा मामले में …