उप्र, उत्तराखंड, गोवा, मणिपुर में हो सकती है भाजपा की वापसी, पंजाब में AAP आगे

नई दिल्‍ली . अगले साल पांच राज्यों में विधानसभा के चुनाव प्रस्तावित हैं. एबीपी न्यूज़ ने सी वोटर के साथ मिलकर एक सर्वे किया है. इस सर्वे में जनता के मूड को भागने की कोशिश की गई है. सर्वे के मुताबिक उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में एक बार फिर से भाजपा की वापसी हो सकती है.

election-survey

सर्वे का दावा है कि उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में भाजपा को 41 फ़ीसदी वोट हासिल हो सकती है. तो वहीं दूसरी ओर समाजवादी पार्टी के खाते में 32 फ़ीसदी तो बहुजन समाज पार्टी के खाते में 15 फ़ीसदी वोट जाने के आसार हैं. कांग्रेस को सिर्फ 6 फ़ीसदी वोट मिलती हुई दिखाई दे रही है. सीटों के लिहाज से देखें तो भाजपा को 2017 के मुकाबले इस बार नुकसान जरूर हो रहा है परंतु उसकी सरकार बन सकती है. उसे 241 से 249 सीटें मिलती हुई दिखाई दे रही है. जबकि समाजवादी पार्टी के सीटों में इजाफा देखने को मिल रहा है और उसे 130 से 138 सीटों के बीच मिलती दिख रही है. बसपा के खाते में 15 से 19 सीट तो कांग्रेस के खाते में 3 से 7 सीटें जा सकती हैं.

माना जा रहा है कि इस बार का उत्तराखंड चुनाव में दिलचस्प हो गया है क्योंकि आम आदमी पार्टी ने भी वहां दमखम लगा रही है. ऐसे में लगातार इस बात का दावा किया जा रहा है कि वहां त्रिकोणीय मुकाबला होगा. हालांकि सर्वे के मुताबिक एक बार फिर से उत्तराखंड में भाजपा की सरकार बन सकती है. भाजपा को 45 फ़ीसदी वोट मिलते हुए दिखाई दे रही है. जबकि कांग्रेस के खाते में 34 फ़ीसदी जा रही है. आम आदमी पार्टी को महज 15 फ़ीसदी वोट मिल रही है. सीटों के हिसाब से 42 से 46 सीटें भाजपा को मिलेगी जबकि कांग्रेस को 21 से 25 सीटें, आम आदमी पार्टी का खाता जरूर खुलेगा और उसे 0 से 4 सीटें हासिल होंगी.

सर्वे की मानें तो 117 सदस्य वाली पंजाब (Punjab) विधानसभा में आम आदमी पार्टी सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभर सकती है. पिछले महीने कांग्रेस में जारी सियासी बवाल के बीच आम आदमी पार्टी के खाते में 36 फ़ीसदी वोट जाती हुई दिखाई दे रही है. जबकि कांग्रेस को सिर्फ 32 फ़ीसदी वोट मिल रही है. अकाली दल को 22 जबकि भाजपा को 4 फ़ीसदी वोट मिल सकती है. सीटों के लिहाज से देखें तो आम आदमी पार्टी को 49 से 55 सीटें और कांग्रेस को 30 से 47 सीटें मिलती हुए दिखाई दे रही है. अकाली दल को 17 से 25 सीटें मिल सकती हैं. ऐसे में बहुमत का आंकड़ा वहां किसी दल को मिलता दिखाई नहीं दे रहा है. हालांकि आम आदमी पार्टी को बढ़त है.

40 सदस्य गोवा विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) में एक बार फिर से भाजपा सत्ता में लौट सकती है. पार्टी को गोवा में 24 से 28 सीटें मिल सकती है. जबकि कांग्रेस के खाते में 1 से 5 सीटें और आम आदमी पार्टी के खाते में 3 से 7 सीटें जा सकती है.

मणिपुर में भाजपा सबसे बड़ी पार्टीमणिपुर में भी भाजपा सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभर सकती है. वहां उसे 21 से 25 सीटें मिल सकती हैं. हालांकि सरकार बनाने के लिए 31 सीटों की आवश्यकता है. ऐसे में उसे गठबंधन की जरूरत पड़ेगी. कांग्रेस 18 से 22 सीटें जबकि एनपीएफ को 4 से 8 सीटें मिल सकती है. अन्य के खाते में 1 से 5 सीटें जाएंगी.

कृपया वेबसाइट के संचालन में आर्थिक सहयोग करें

Check Also

आठवां दिवस : महागौरी

श्वेते वृषे समारूढ़ा श्वेताम्बारधरा शुचि:. महागौरी शुभं दद्यान्हादेवप्रमोददा.. माँ दुर्गा जी की आठवीं शक्ति का …