भाजपा नेता का राकांपा के नवाब मलिक से सवाल, ‘शाहरुख खान के लिए दर्द है, सुशांत के वक्त कहां थे?’

मुंबई (Mumbai) , . बॉलीवुड (Bollywood) अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान से जुड़े मुंबई (Mumbai) क्रूज ड्रग केस में रविवार (Sunday) को धार्मिक और सांप्रदायिक मोड़ आ गया. भाजपा नेता नितेश राणे ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रवक्ता नवाब मलिक से सवाल किया कि उन्हें एनसीबी (नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो) द्वारा मुंबई (Mumbai) क्रूज ड्रग्स पार्टी में छापा मारे जाने से तकलीफ़ क्यों है? क्या सिर्फ इसलिए तकलीफ़ हो रही है कि इसमें शाहरुख खान का बेटा गिरफ्तार हुआ है? सुशांत सिंह राजपूत की मौत संदिग्ध हालत में हुई थी. आज तक उनकी मौत एक रहस्य है.

अब तक CBI जांच चल रही है. तब नवाब मलिक ने सुशांत को इंसाफ़ दिलाने के लिए आवाज़ क्यों नहीं उठाई? क्या इसलिए क्योंकि सुशांत सिंह हिंदू थे जबकि शाहरुख एक ‘खान’ हैं? वहीं नितेश राणे के सवालों का जवाब देते हुए नवाब मलिक ने कहा कि, ‘मैं इसलिए मुंबई (Mumbai) क्रूज पर शनिवार (Saturday) (2 अक्टूबर) की रात डाली गई एनसीबी की रेड पर सवाल कर रहा हूं क्योंकि यह फ्रेम किया हुआ है. यहां रेड के नाम पर फर्जीवाड़ा हुआ है. शाहरुख खान को टारगेट करने के लिए प्लान करके रेड किया गया है. ऐसी ही जांच आपके और आपके परिवार और घर तक भी पहुंच सकती है. इसलिए आपको भी सावधान कर रहा हूं.’ राकांपा प्रवक्ता नवाब मलिक ने रविवार (Sunday) को एनसीबी पर अपना आरोप दोहराया. नवाब मलिक ने फिर कहा कि, ‘क्रूज में डाली गई रेड में ड्रग्स बरामद नहीं हुआ. ना ही क्रूज टर्मिनस में ड्रग्स बरामद हुआ. बरामद किए गए ड्रग्स की जो तस्वीर एनसीबी ने जारी की है वो एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े के टेबल पर रखे गए ड्रग्स की है. मैं चुनौती देता हूं कि एनसीबी रेड के वक्त का वीडियो टेप जारी करे. साफ़ हो जाएगा कि क्रूज में ड्रग्स बरामद हुआ था या नहीं.’ नवाब मलिक ने एक बार फिर यह दोहराया कि क्रूज पर छापेमारी के बाद एनसीबी ने 11 लोगों को हिरासत में लिया था और बीजेपी के दबाव में तीन लोगों को छोड़ दिया गया. जबकि एक दिन पहले नवाब मलिक के इस आरोप को एनसीबी यह कह कर ठुकरा चुकी है कि 11 नहीं बल्कि 14 लोगों को पकड़ा गया था और 6 लोगों को सबूतों के अभाव में छोड़ दिया गया था.

Check Also

आयकर विभाग ने 18 अक्टूबर तक करदाताओं को रिफंड किए 92,961 करोड़ रुपए

नई दिल्ली (New Delhi) . देश के आयकर महकमें ने चालू वित्त वर्ष (2021-22) में …