नई दिल्ली, 2 अप्रैल . आम आदमी पार्टी के नेता सौरभ भारद्वाज ने कहा है कि 31 मार्च को रामलीला मैदान की रैली देखकर बीजेपी डर गई है. बीजेपी को उम्मीद नहीं थी की इतनी भीड़ और विपक्षी पार्टियों के इतने बड़े-बड़े नेता एक मंच पर एक साथ मौजूद होंगे.

सौरभ भारद्वाज ने आरोप लगाया है कि जनता इस समय डरी हुई है और जनता अंग्रेजों के शासन के समय में भी डरी हुई थी. लोग अपने मन की बात कहने से डरते हैं और अंग्रेजों के समय में भी अंग्रेज डरा कर, जेल का भय दिखाकर अपनी मनमानी करते थे. आज भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार लगभग वैसी ही हो गई है. जो आवाज उठाए उसे डरा कर, जेल भेज कर शासन चलाना चाह रही है. आज आतिशी को ऑफर मिला है. यह तो खुल्लम-खुल्ला धमकी है और इस धमकी के साक्ष्य आपको महाराष्ट्र से लेकर असम तक सभी जगह दिख रहे हैं.

भारद्वाज ने कहा, जिस जिस ने भी भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ आवाज उठाई, उसके खिलाफ कैंपेन चला दिया गया. या तो उसने भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन कर ली और उसके सारे पाप धुल गए या तो वह जेल चला गया. अब आम आदमी पार्टी के चार लोग जब अंदर हैं तो पार्टी फिर भी खड़ी है.

आप नेता ने कहा, आगे चार लोगों का नंबर है, जिसमें सबसे पहला नंबर मेरा यानी सौरभ भारद्वाज का है. दूसरा नंबर आतिशी का है, तीसरा राघव चड्ढा का है और चौथा दुर्गेश पाठक का है. बीजेपी को लगा था कि पार्टी के फर्स्ट लाइन नेता को जेल में डाल दो तो पार्टी बिखर जाएगी, लेकिन हम थर्ड लाइन हैं. पहली लाइन अरविंद केजरीवाल, दूसरी लाइन मनीष सिसोदिया, संजय सिंह, सत्येंद्र जैन और अब हम तीसरी लाइन हैं. हमको भी अंदर डाला जाएगा तो चौथी और पांचवी लाइन भी आगे आ जाएगी जो पार्टी को चलाएगी.

उन्होंने कहा कि आज भारतीय जनता पार्टी को अगर किसी पार्टी से डर है तो वह सिर्फ आम आदमी पार्टी से है और आम आदमी पार्टी ही है जो भारतीय जनता पार्टी को खत्म करने का माद्दा रखती है.

पीकेटी/