नई दिल्ली, 1 अप्रैल . केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी के नेतृत्व में भाजपा नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने चुनाव आयोग से मुलाकात कर कांग्रेस नेता राहुल गांधी के बयानों की शिकायत की है.

भाजपा ने राहुल गांधी द्वारा लगातार और बार-बार इस तरह के बयान देने का हवाला देते हुए चुनाव आयोग से नोटिस देने की बजाय कठोर कार्रवाई करने की मांग की है. भाजपा ने आयोग से राहुल गांधी के भाषण पर रोक लगाने की भी मांग की है.

चुनाव आयोग से मुलाकात के बाद मीडिया से बात करते हुए केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि उन्होंने चुनाव आयोग के सामने कई बातें रखी है. रविवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में विपक्षी गठबंधन की रैली में राहुल गांधी ने कहा था कि लोकसभा चुनाव एक फिक्स्ड मैच की तरह है, केंद्र सरकार ने चुनाव आयोग में अपने व्यक्ति बैठा दिए हैं. राहुल गांधी ने ईवीएम के मिसयूज़ को लेकर भी बातें कही, जबकि, चुनाव आयोग कई बार यह कह चुका है कि ईवीएम को टेम्पर नहीं किया जा सकता है.

पुरी ने राहुल गांधी के बयान की आलोचना जारी रखते हुए आगे कहा कि उन्होंने भाजपा पर संविधान और लोगों को मिले संवैधानिक अधिकारों को छिनने का गलत आरोप लगाया. राहुल गांधी ने देश के टुकड़े-टुकड़े होने और देश में आग लगने की बात भी कही, जो आपत्तिजनक है.

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी हताशा में इस तरह के बयान दे रहे हैं. पुरी ने आगे बताया कि उन्होंने पश्चिम बंगाल में टीएमसी सरकार के रवैए की भी चुनाव आयोग से शिकायत की है.

वहीं, भाजपा राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह ने कहा कि राहुल गांधी बार-बार लगातार संवैधानिक संस्थाओं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ असंसदीय बयान दे रहे हैं. वह इस तरह के बयान पचासों बार दे चुके हैं इसलिए चुनाव आयोग को उनके भाषण देने पर रोक लगा देनी चाहिए.

एसटीपी/एबीएम