बिहारः गया में सेना के प्रशिक्षण के दौरान तोप का गोला गिरने से तीन की मौत, तीन गंभीर


बिहार के गया में मिलेट्री ट्रेनिंग के दौरान तोप का गोला गिरने से तीन की मौत के बाद रोते परिजन.

पटना, 08 मार्च . बिहार (Bihar) के गया जिले के गूलरवेद गांव में बुधवार (Wednesday) को होली के दिन धमाके के साथ तोप का गोला गिरने से दम्पति समेत परिवार के तीन सदस्यों की मौत हो गई और तीन सदस्य घायल हो गए. इनमें एक की हालत गंभीर बनी हुई है. घटना के समय सभी होली खेल रहे थे. घायलों को मगध मेडिकल कालेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

पुलिस (Police) के मुताबिक बाराचट्टी थाना क्षेत्र के बुमेर पंचायत के गूलरवेद गांव से एक किलोमीटर दूर मिलिट्री फायरिंग रेंज है. बुधवार (Wednesday) की सुबह करीब आठ बजे मिलिट्री के जवान अभ्यास कर रहे थे. इसी दौरान एक तोप का गोला गूलरवेद गांव में जा गिरा. इसकी चपेट में एक ही परिवार के छह लोग आ गए. उनमें से तीन लोगों के शरीर के चीथड़े उड़ गए.

घटनास्थल पर ही एक महिला समेत तीन की मौत हो गई, जबकि दो महिला और एक पुरुष गंभीर रूप से घायल हैं. इन्हें बेहतर इलाज के लिए अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कालेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

हादसे में गोला मांझी की बेटी कंचन कुमारी (28), दामाद गोविंदा मांझी (29) निवासी डोभी और सूरज कुमार की मौके पर ही मौत हो गई. गीता कुमारी (11), राशो देवी (30) और पिंटू मांझी (25) घायल हो गए.

इस संबंध में बाराचट्टी थानाध्यक्ष राम लखन पंडित ने बताया कि बाराचट्टी के बूमर पंचायत के गूलरवेद गांव में तोप के गोला से दो लोगों की मौत की प्रारंभिक सूचना मिली है. दो से तीन लोग घायल हैं. सभी को मगध मेडिकल कालेज अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया है.

ग्रामीणों के अनुसार आठ महीने पहले भी इसी गांव में मिलिट्री फायरिंग रेंज से गोली लगने से 20 वर्षीय रघु मांझी की मौत हुई थी. इससे पहले भी इस गांव में दो लोगों की मौत हुई थी. कई जानवर भी तोप के गोले के शिकार हो चुके हैं. इसकी वजह मिलिट्री के फायरिंग रेंज गांव के काफी करीब होना है.

घटनास्थल पर गया के सांसद (Member of parliament) विजय मांझी, सिटी एसपी अशोक कुमार, डीएसपी और एसडीओ भी पहुंचे. बीडीओ ने मृतकों के परिजन को 20-20 हजार रुपये प्रदान किए हैं. तीन-तीन हजार अंत्येष्टि के लिए दिए गए हैं. इस संबंध में एसएसपी आशीष भारती ने बताया कि गूलरवेद गांव की घटना में सिटी एसपी, एसडीपो शेरघाटी, एडीएम शेरघाटी एवं अन्य पुलिस (Police) तथा प्रशासनिक अधिकारी पहुंचकर जांच कर रहे हैं. घटना के कारणों एवं अन्य बिंदुओं पर जांच के बाद ही कुछ स्पष्ट रूप से कहा जा सकेगा.

/गोविन्द

,