जंगली सूअर से अपने मासूम भाई को बचाने के लिए भिड़ी बहन, अस्पताल में भर्ती

जोधपुर (Jodhpur) . जोधपुर (Jodhpur) में महज 10 वर्षीय एक बहन अपने मासूम भाई को बचाने के ‎लिए जंगली सूअर से ‎भिड़ गई. इस घटना में भाई और बहिन दोनों गंभीर रूप से घायल हो गये. ‎फिलहाल दोनों का जोधपुर (Jodhpur) के महात्मा गांधी अस्पताल में इलाज चल रहा है. घटना के बाद ग्रामीणों ने सूअर को लाठियों से पीट-पीटकर मार डाला. बताया जा रहा है ‎कि घटना ओसियां तहसील के पड़ासला गांव के एक खेत में बुधवार (Wednesday) को सुबह हुई.

खेत में भंवरु और उसकी पत्नी संतोष काम कर रहे थे. उनका डेढ़ वर्षीय पुत्र खेत में बने मकान के बाहर खेल रहा था. इसी दौरान एक जंगली सूअर ने उस पर हमला कर दिया. बालक के चिल्लाने पर उसकी 10 वर्षीय बहन संगीता उसके पास पहुंची तो वहां के हालात देखकर एकबारगी वह घबरा गई, लेकिन फिर उसने हिम्मत जुटाई और अपनी जान की परवाह किये बिना मासूम भाई को बचाने के लिये जंगली सूअर से जा भिड़ी. इस पर जंगली सूअर ने कुछ पल तो दोनों का डराने का प्रयास किया, लेकिन संगीता अदम्य साहस दिखाते हुए सूअर पर टूट पड़ी. दोनों में कुछ देर संघर्ष भी हुआ.

उन्होंने जंगली सूअर का वहां से भगाया और दोनों भाई-बहन को अस्पताल पहुंचाया.उनका प्राथमिक उपचार कर दोनों को जोधपुर (Jodhpur) के महात्मा गांधी अस्पताल के लिये रेफर कर दिया गया. वहां दोनों का इलाज चल रहा है. हमले के दौरान सूअर ने दोनों को कई जगह से नोंच लिया, जिससे वे लहूलुहान हो गये. खेत के मालिक गणेश ने बताया कि सूअर भाग कर झाड़ियों में छिप गया. ग्रामीणों ने सुअर की पैरों के निशान के आधार पर उसकी तलाश की. बाद में ग्रामीणों ने सूअर को लाठियों से पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया.

Check Also

अब डाक टिकट पर दादी जानकी!

 (लेखक/ -डॉ श्रीगोपाल नारसन एडवोकेट) प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की मुख्य प्रशासिका रही राजयोगिनी …