कोरोना से बचाव और उपचार के लिए हों सर्वश्रेष्ठ कार्य · Indias News

कोरोना से बचाव और उपचार के लिए हों सर्वश्रेष्ठ कार्य

भोपाल (Bhopal) . मुख्यमंत्री (Chief Minister) शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना से बचाव में उपचार के सर्वश्रेष्ठ कार्य किए जाएं. कोरोना मरीजों को अच्छे से अच्छा इलाज मिले, ऐसी पुख्ता व्यवस्थाएँ की जाएं. जिनमें भी कोरोना के लक्षण दिखें, वे तुरंत टेस्ट करवाएं. संक्रमित जिलों में चिन्हित किए गए हॉटस्पॉट्स को पूरी तरह सील करें और वहां आवश्यक वस्तुएं, दूध, दवाईयां आदि की सप्लाई जिला प्रशासन के माध्यम से की जाए. मुख्यमंत्री (Chief Minister) श्री चौहान मंत्रालय में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने निर्देश दिए कि प्रदेश में कोरोना से प्रभावित 15 जिलों के हॉट-स्पॉट क्षेत्रों को पूरी तरह सील किया जाए. कोरोना से प्रभावित भोपाल (Bhopal) , इंदौर (Indore) और उज्जैन को पहले ही पूरा सील किया जा चुका है. हॉट-स्पॉट क्षेत्रों में आवश्यक वस्तुओं, दवाओं दूध आदि की सप्लाई जिला प्रशासन के माध्यम से की जाएगी. इन क्षेत्रों में आना-जाना पूर्णतया प्रतिबंधित रहेगा. मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने निर्देश दिए कि यह सुनिश्चित किया जाए कि कहीं भी सप्लाई चैन प्रभावित न हो.

ठीक हो रहे हैं कोरोना के अधिकांश मरीज़
बैठक में बताया गया कि प्रदेश के अधिकांश कोरोना मरीज़ ठीक हो कर घर जा रहे हैं. इंदौर (Indore) के ही 16 कोरोना मरीज आज ठीक होने के बाद डिस्चार्ज कर दिए गए हैं तथा एक दिन बाद 10 और मरीजों को डिस्चार्ज कर दिया जाएगा.

15 जिलों के 46 क्षेत्र हॉट-स्पॉट घोषित
प्रदेश के 15 जिलों के कुल 46 क्षेत्रों को हॉट-स्पॉट घोषित किया गया है. यहां कोरोना संक्रमण के मामले मिले हैं. जबलपुर (Jabalpur)जिले के 8, ग्वालियर जिले के 6, खरगोन जिले के 5, मुरैना का एक, शिवपुरी का एक, बड़वानी के 5, बैतूल का एक, विदिशा के दो, श्योपुर का एक, छिंदवाड़ा के पांच, रायसेन का एक, होशंगाबाद के तीन, खंडवा के दो, धार का एक तथा देवास जिले के 4 क्षेत्रों को हॉट-स्पॉट घोषित किया गया है. इन सभी क्षेत्रों को सील करने के निर्देश दिए गए हैं.

संक्रमित व्यक्तियों की संख्या हुई 397
अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि प्रदेश में कोरोना-वायरस मरीजों की संख्या 397 हो गई है, जिनमें से 24 व्यक्तियों की मृत्यु हुई है. इंदौर (Indore) में संक्रमित मरीजों की संख्या 221, भोपाल (Bhopal) में 98, उज्जैन में 11 तथा मुरैना, खरगोन एवं बड़वानी में 12-12 है. ये जिले कोरोना से अधिक संक्रमित हैं.

टेस्टिंग क्षमता हुई 1050
मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस ने बताया कि प्रदेश की कोरोना-वायरस टेस्टिंग क्षमता 1050 प्रतिदिन हो गई है. टेस्टिंग किट्स पर्याप्त संख्या में उपलब्ध हैं. पीपीई किट्स भी पर्याप्त संख्या में प्राप्त हो रही हैं.

टेलीमेडिसिन से हो इलाज
मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने निर्देश दिए कि टेलीमेडिसिन के माध्यम से देशभर के चिकित्सकों द्वारा सामान्य रोगों के इलाज की व्यवस्था ऑनलाइन की गई है. सभी जिलों में कलेक्टर इस सेवा का लाभ लोगों को दिलाएं तथा स्थानीय चिकित्सकों को भी इससे जोड़ा जाए.

आइफा की राशि कोरोना सहायता के लिए
मुख्यमंत्री (Chief Minister) श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में एक बड़ा आयोजन आईफा होने वाला था. आईफा आयोजन के निजी प्रायोजकों द्वारा वर्तमान में कोरोना संकट के चलते यदि आईफा पर व्यय होने वाली राशि कोरोना सहायता के लिए मुख्यमंत्री (Chief Minister) राहत कोष में दी जाती है, तो उससे बड़ी संख्या में जनता को सहायता दी जा सकती है.

विस्तृत कार्य-योजना
बैठक में अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से प्रदेश में कोरोना संकट से निबटने की विस्तृत कार्य-योजना “स्टेट रिस्पांस स्ट्रेटजी कोविड-19 (Kovid-19) ” प्रस्तुत की. मुख्यमंत्री (Chief Minister) श्री चौहान द्वारा भारत सरकार (Government) के निर्देशों एवं आईसीएमआर की गाइडलाइंस के अनुरूप कार्य-योजना को प्रभावी ढंग से प्रदेश में लागू किए जाने के निर्देश दिए गए.

Check Also

कोरोना वायरस: बिहार मूल के NRI देवेश रंजन ने बनाया दुनिया का सबसे सस्ता पोर्टेबल वेंटिलेटर

नालंदा.पूरी दुनिया वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से जूझ रही है. ऐसे में हर देश इसके …