बंगाल का बजट सत्र हंगामेदार होने का आसार, सीएजी रिपोर्ट को लेकर तृणमूल पर निशाना साधने की तैयारी में भाजपा – indias.news

कोलकाता, 5 फरवरी . पश्चिम बंगाल विधानसभा का सोमवार से शुरू होने वाला बजट सत्र हंगामेदार होने की उम्मीद है, क्योंकि विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी के नेतृत्व वाली भाजपा विभिन्न केंद्रीय प्रायोजित योजनाओं में धन के उपयोग से संबंधित राज्य सरकार द्वारा ‘उपयोग प्रमाणपत्र’ जमा न करने पर सीएजी के निष्कर्ष पर राज्य सरकार और तृणमूल कांग्रेस पर निशाना साधने की तैयारी कर रही है.

पार्टी के अंदरूनी सूत्रों ने कहा कि विपक्ष के नेता के अलावा, बालुरघाट विधायक अशोक कुमार लाहिड़ी के भी बहस में मुख्य भूमिका निभाने की उम्मीद है. लाहिड़ी केंद्र सरकार के पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार हैं.

राजनीतिक पर्यवेक्षकों का मानना है, जबकि विपक्ष के नेता द्वारा हमले की रेखा प्रकृति में अधिक राजनीतिक होगी, लाहिड़ी की ओर से तर्क आर्थिक और सांख्यिकीय कोण पर अधिक होंगे.

सीएजी रिपोर्ट के प्रमुख निष्कर्ष, जिन्हें भाजपा की विधायी टीम सोमवार से शुरू होने वाले बजट सत्र की कार्यवाही के दौरान उजागर करने की योजना बना रही है, उनमें 2011 से 2022 की अवधि के बीच 1.94 लाख करोड़ रुपये के “उपयोग प्रमाण पत्र” जमा न करना शामिल होगा.

भाजपा के अंदरूनी सूत्रों ने कहा, सीएजी रिपोर्ट के अन्य निष्कर्ष जैसे राज्य सरकार द्वारा विभिन्न खैरात योजनाओं को प्रायोजित करने के लिए अतिरिक्त-बजटीय उधार लेना, अन्य बातों के अलावा बहस का सूक्ष्म बिंदु होंगा.

तृणमूल कांग्रेस ने पहले ही कुछ विशिष्ट संकेत दिए हैं कि भाजपा सवालों पर उनका जवाब क्‍या होगा. वे पहले ही सीएजी के निष्कर्षों को “जानबूझकर संरचित दस्तावेज” बता चुके हैं, जिसका उद्देश्य विपक्ष को राज्य सरकार खिलाफ बयान तैयार करने के लिए हथियार देना है.

सत्र सोमवार से फिर से शुरू होगा और राज्य का बजट 8 फरवरी को सदन के पटल पर रखा जाएगा. अगले दो दिनों में, राज्य के बजट पर चर्चा होगी, इस अवधि में सबसे अधिक हंगामा होने की उम्मीद है.

/