सहायक कोच थोर्प ने स्टोक्स का हौंसला बढ़ाया, गेंदबाजों को बैकफुट पर लाने की अपनी क्षमता न भूलें


अहमदाबाद (Ahmedabad) . भारतीय टीम के साथ बुधवार (Wednesday) को शुरु हो रहे दिन-रात्रि के तीसरे टेस्ट में पूरी तैयारी के साथ उतरने जा रही मेहमान टीम इंग्लैंड की चिन्ता अपने स्टार ऑलराउंडर बेन स्टोक्स को लेकर है. स्टोक्स अब तक भारतीय टभ्म के अनुभवी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को खेलने में विफल रहे हैं. वहीं टीम के सहायक कोच सहायक ग्राहम थोर्प ने स्टोक्स का हौंसला बढ़ाते हुए कहा है कि उसमें गेंदबाजों को बैकफुट पर लाने की पूरी क्षमता है जो उसे भूलनी नहीं चाहिये.

पहले दो टेस्ट में अश्विन ने तीन बार स्टोक्स को आउट किया. इस बारे में थोर्प ने कहा कि यह चुनौतीपूर्ण है. स्टोक्स की खेलने की शैली कई बार अलग-अलग होती है. वह पारी का सूत्रधार भी बन सकता है. उसमें गेंदबाजों को बैकफुट पर लाने की क्षमता है और उसे यह भूलना नहीं चाहिए.

दोनो ही टीमों के बीच चार टेस्ट मैचों की सीरीज इस समय 1-1 से बराबरी पर है. अश्विन की सराहना करते हुए थोर्प ने कहा कि वह काफी खतरनाक गेंदबाज है और स्पिनरों की सहायक पिच पर तो उसे खेलना और भी अधिक कठिन हो जाता है. सहायक कोच ने माना कि आने वाले मुकाबले काफी कठिन होंगे जिसके लिए टीम को तैयार रहना होगा. उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों को साफ तौर पर पता होना चाहिए कि वह अपने प्रदर्शन में सुधार कैसे कर सकते हैं.

इसके अलावा खिलाड़ीयों को अपने बेसिक्स पर ध्यान देकर संयम से खेलना होगा. उन्होंने यह भी कहा कि चोट के कारण पहले दो टेस्ट से बाहर रहे जैक क्राउली समेत सभी खिलाड़ी चयन के लिए उपलब्ध हैं.

Check Also

ओलंपिक में इस बार कम रहेगी भारतीय खिलाड़ियों की संख्या

नई दिल्ली (New Delhi) . आगामी टोक्यो ओलंपिक के लिये मुक्केबाजी के वैश्विक क्वालीफिकेशन टूर्नामेंटों …