वकीलों की फौज दिला पाएगी शाहरुख के बेटे को जमानत

मुंबई (Mumbai) . फिल्म अभिनेता शाहरुख खान ने ड्रग्स केस में गिरफ्तार अपने बेटे आर्यन को जमानत दिलाने के लिए देश के कद्दावर वकीलों की एक फौज उतार दी है. उनकी याचिका पर बंबई हाईकोर्ट में कल सुनवाई पूरी नहीं हो सकी. न्यायमूर्ति एन. वी. सांबरे बुधवार (Wednesday) को भी जमानत याचिका पर सुनवाई करेंगे. आर्यन खान के वकील मुकुल रोहतगी और सतीश मानशिंदे ने अदालत में कहा कि एनसीबी के पास 23 वर्षीय आर्यन के खिलाफ कोई साक्ष्य नहीं है. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि उन्हें गलत तरीके से गिरफ्तार किया गया और 20 दिनों से अधिक समय से जेल में रखा गया है. वरिष्ठ वकील रोहतगी ने कहा, ”नशा करने का कोई साक्ष्य नहीं है. मादक पदार्थ जब्त नहीं हुआ. तथाकथित षड्यंत्र और उकसाने में उनकी संलिप्तता के कोई साक्ष्य नहीं हैं, जैसा कि एनसीबी ने यही आरोप लगाया है.” रोहतगी ने अपनी दलीलें पूरी कर लीं, जिसके बाद अदालत ने कहा कि वह सह आरोपियों अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा की जमानत याचिकाओं पर बुधवार (Wednesday) को सुनवाई जारी रखेगी. अदालत बुधवार (Wednesday) को एनसीबी की तरफ से पेश होने वाले अतिरिक्त सॉलिसीटर जनरल अनिल सिंह की भी दलीलें सुनेगी. आर्यन खान को तीन अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया था. एनडीपीएस मामलों एक की विशेष अदालत उनकी जमानत याचिका खारिज कर चुकी है. आर्यन ने एनसीबी के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े के खिलाफ जबरन वसूली के प्रयास के आरोप से खुद को अलग कर लिया, जिन्होंने गत दो अक्तूबर को जहाज पर छापे की निगरानी की थी. आर्यन के वकीलों मुकुल रोहतगी और सतीश मानशिंदे ने न्यायमूर्ति एन डब्ल्यू सांबरे के सामने दलील दी कि एनसीबी के पास उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं है. वरिष्ठ वकील रोहतगी ने कहा कि आर्यन को एनसीबी के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े सहित एनसीबी के किसी भी अधिकारी के खिलाफ कोई शिकायत नहीं है. आर्यन का इन बेतुके विवादों से कोई सरोकार नहीं है. वह इससे किसी भी तरह के संबंध से पूरी तरह इनकार करते हैं.

एनसीबी ने आर्यन खान की उच्च न्यायालय में दायर जमानत याचिका के जवाब में मंगलवार (Tuesday) को हलफनामा दाखिल किया. इसमें एनसीबी ने आर्यन खान की जमानत याचिका का मंगलवार (Tuesday) को बंबई हाईकोर्ट में विरोध किया. साथ ही एनसीबी ने कहा कि आर्यन ना केवल मादक पदार्थ लेते थे, बल्कि उसकी अवैध तस्करी में भी शामिल थे.आर्यन खान की जमानत याचिका पर सुनवाई से पहले जस्टिस एन डब्ल्यू साम्ब्रे के कोर्ट रूम में अभूतपूर्व भीड़ उमड़ पड़ी. इससे जज को एन डब्ल्यू सांबरे को भी समस्या हुई. सुनवाई शुरू होने से पहले ही कोर्ट रूम में इतनी भीड़ हो गई कि उसे हटाने के लिए पुलिस (Police) की मदद ली गई. अदालत ने कहा कि जो केस अभी चलने वाला है, उनसे संबंधित लोग ही कोर्ट रूम में उपस्थित रहें. कोर्ट रूम के बाहर लॉबी से भी भीड़ को हटाया गया. इस दौरान हाथापाई की नौबत आन पड़ी. भीड़ की वजह से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न हो पाने की वजह से यह कदम उठाया गया.

Check Also

राजकुमार और जाह्नवी एक बार फिर करेंगे स्क्रीन शेयर

मुंबई (Mumbai) . बालीवुड एक्टर राजकुमार राव और जाह्नवी कपूर एक बार फिर ‘मिस्टर एंड …