एप्पल अपनी ‘सीक्रेट’ सेल्फ-ड्राइविंग कार की कर रहा टेस्टिंग – indias.news

सैन फ्रांसिस्को, 4 फरवरी . एप्पल ने अपनी सेल्फ-ड्राइविंग कार की टेस्टिंग तेज कर दी है और दिसंबर 2022 से नवंबर 2023 तक अमेरिका में 450,000 मील से ज्यादा की ऑटोनॉमस ड्राइविंग दर्ज की है.

वायर्ड की रिपोर्ट के अनुसार, एप्पल द्वारा कैलिफोर्निया मोटर वाहन विभाग (डीएमवी) के साथ प्रस्तुत किए गए डेटा से पता चला है कि एप्पल ने अपनी ऑटोनॉमस कार की पिछले साल से कहीं अधिक टेस्टिंग की है.

एप्पल के पास कैलिफोर्निया की सार्वजनिक सड़कों पर ऑटोनॉमस व्हीकल टेक की टेस्टिंग करने की अनुमति तभी है, जब कंपनी के पास गाड़ी चलाने वाला कोई सेफ्टी ड्राइवर हो.

एप्पल का सीक्रेट कार प्रोजेक्ट आखिरकार गति पकड़ रहा है.

पहले की रिपोर्ट में दावा किया गया था कि एप्पल ने सेल्फ-ड्राइविंग इलेक्ट्रिक कार बनाने की अपनी महत्वाकांक्षाओं को कम कर दिया है.

हालांकि, नए डॉक्यूमेंट्स से पता चलता है कि कंपनी अभी भी अपनी सेल्फ-ड्राइविंग कार की टेस्टिंग कर रही है.

इस बीच, गूगल के वेमो ने कैलिफोर्निया में सेफ्टी ड्राइवर के साथ 3.7 मिलियन टेस्टिंग मील की दूरी तय की और 1.2 मिलियन टेस्टिंग मील की दूरी तय की, जिसमें ड्राइवर नहीं था.

रिपोर्ट में कहा गया, कंपनी ने कार में यात्रियों के साथ 1.6 मिलियन से ज्यादा अतिरिक्त मील की दूरी तय की.

ऐसी खबरें हैं कि एप्पल ने “एप्पल कार” के 2026 लॉन्च को स्थगित कर दिया है, एक इलेक्ट्रिक वाहन जिसकी कीमत कथित तौर पर 100,000 डॉलर से कम होगी.

कंपनी अभी भी वाहन के डिजाइन पर काम कर रही है. एप्पल ने सीटों और सस्पेंशन जैसे राइडिंग कंफर्ट से संबंधित सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर में कई नए पेटेंट भी दायर किए हैं.

आईफोन निर्माता कथित तौर पर व्हीकल-टू-एवरीथिंग (वी2एक्स) टेक्नोलॉजी पर भी काम कर रहे है, जो कारों को एक-दूसरे के साथ कम्युनिकेट करने और इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) से जुड़ने की अनुमति देता है.

कंपनी ने 2022 में पूरी तरह से इलेक्ट्रिक ऑटोनॉमस कार डेवलप करने में मदद के लिए अनुभवी फोर्ड एग्जीक्यूटिव देसी उज्काशेविक को काम पर रखा था.

पीके/