जोशीमठ/चमोली, 4 अप्रैल . उत्तराखंड में जोशीमठ ब्लॉक के डुमक गांव के ग्रामीणों ने लोकसभा चुनाव के बहिष्कार का ऐलान किया है. उनका कहना है कि जब तक गांव में सड़क नहीं बनेगी, तब तक वे मतदान नहीं करेंगे.

जोशीमठ ब्लॉक के अंतर्गत आने वाले डुमक गांव के ग्रामीणों ने गुरुवार को अपने गांव में जन आक्रोश रैली का आयोजन किया. उन्होंने रैली में मतदान के बहिष्कार का ऐलान करते हुए कहा – रोड नहीं तो वोट नहीं.

डुमक गांव को जोशीमठ ब्लॉक के सबसे दूरस्थ गांव के रूप में जाना जाता है. यहां के ग्रामीण कई सालों से सड़क न होने की समस्या से जूझ रहे हैं. ग्रामीण कई बार अपने गांव में क्रमिक धरना-प्रदर्शन तक कर चुके हैं. डुमक गांव के ग्रामीणों ने गांव में एक जन आक्रोश रैली का आयोजन किया. इस रैली में सैकड़ों ग्रामीण मौजूद रहे. उनका कहना है कि पिछले दिनों धरना-प्रदर्शन के दौरान शासन और प्रशासन के द्वारा ग्रामीणों को आश्‍वासन दिया गया था कि बहुत जल्द डुमक गांव की सड़क संबंधी समस्या दूर कर दी जाएगी. लेकिन कई महीने बीत चुके हैं, आज तक कुछ भी नहीं हो पाया.

गुस्साए ग्रामीणों ने जन आक्रोश रैली के दौरान जमकर नारेबाजी की और चुनाव के बहिष्कार की चेतावनी भी दी.

उत्तराखंड में 19 अप्रैल को पहले चरण में 5 लोकसभा सीटों के लिए मतदान होना है.

स्मिता/एसजीके