अमेरिका ने ताइवान को 25 लाख कोरोना-रोधी टीके भेजे

 

वाशिंगटन . अमेरिका ने ताइवान को मॉडर्ना के कोविड-19 (Covid-19) रोधी टीके की 25 लाख खुराक भेजी हैं. इस खेप का लोक स्वास्थ्य के क्षेत्र में मदद के साथ-साथ भू-राजनीतिक महत्व भी है. यह खेप चाइना एयरलाइन्स के मालवाहक विमान से भेजी गई है. एक दिन पहले इस खेप को अमेरिका के मेम्फिस से रवाना किया गया था.

राजधानी ताइपे के बाहर स्थित हवाई अड्डे पर इस खेप का स्वागत करने के लिए ताइवान में अमेरिका के शीर्ष अधिकारी ब्रेंट क्रिस्टनसेन और ताइवान के स्वास्थ्य मंत्री चेन शी-चुंग मौजूद थे. अमेरिका की ताइवान से बढ़ती नजदीकी चीन को नागवार गुजर रही है और वह कई बार दोनों देशों को धमका भी चुका है.
ताइवान में अमेरिकी इंस्टीट्यूट ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा कि यह खेप ताइवान के प्रति एक विश्वासपात्र मित्र और लोकतंत्र के अंतरराष्ट्रीय परिवार के एक सदस्य के रूप में अमेरिका की प्रतिबद्धता को दर्शाता है. यह संस्था एक तरह से ताइवान में अमेरिका का दूतावास है. ताइवान महामारी (Epidemic) के प्रकोप से एक तरह से बचा हुआ ही था, लेकिन मई से यहां संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी हुई और अब यहां बाहर से टीकों की खुराक मंगाई जा रही है. ताइवान ने सीधे मॉडर्ना से 55 लाख टीकों की खरीद के आदेश दिए थे, लेकिन अब तक इसे सिर्फ़ 390,000 टीके ही मिले हैं.

चीन द्वारा ताइवान पर बढ़ रहे दबाव के समय में अमेरिका द्वारा की गई मदद उसके सहयोग को दर्शाती है. चीन हमेशा से ताइवान पर अपना दावा करता रहा है. अमेरिका के ताइवान के साथ अब तक औपचारिक राजनयिक संबंध नहीं है. अमेरिका ने इस महीने की शुरुआत में ताइवान को 750,000 टीके की खुराक देने का वादा किया था.

Check Also

राहुल द्रविड़ की दरियादिली, श्रीलंकाई कप्तान को मैदान पर ही दिए अहम सुझाव

नई दिल्ली (New Delhi) . राहुल द्रविड़ महान खिलाड़ी और शानदार कोच तो हैं ही, …