अमरिंदर सिंह ने सीमा सुरक्षा बल मामले में परगट सिंह के आरोपों को हास्‍यास्‍पद बताया

चंडीगढ़ (Chandigarh) . पंजाब (Punjab) के पूर्व मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने गुरुवार (Thursday) को सीमा सुरक्षा बल को अधिक अधिकार दिए जाने के मामले में पंजाब (Punjab) कैबिनेट के मंत्री परगट सिंह के आरोपों को हास्‍यास्‍पद और सस्‍ती लोकप्रियता हासिल करने की कवायद करार दिया. अमरिंदर सिंह ने केंद्र के इस फैसले का स्वागत किया था जिसके बाद इस मुद्दे पर कमेंट करते हुए परगट ने कहा था, ‘मेरा हमेशा से मानना रहा है कि कैप्‍टन केवल बीजेपी के साथ हैं. इससे पहले वे धान खरीदी में देर के लिए दिल्‍ली गए थे और अब यह…यदि आप पंजाब (Punjab) में बीएसएफ की तैनाती कर रहे तो यह राष्‍ट्रपति शासन लगाने की आपकी मंशा को दर्शाता है. ‘

परगट को पंजाब (Punjab) के प्रमुख कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू का करीबी माना जाता है. परगट सिंह के यह आरोप अमरिंदर की ओर से बीएसएफफ संबंधी केंद्र सरकार (Central Government)के कदम का स्‍वागत करने के बाद सामने आए थे. कैप्‍टन ने कहा था कि बीएसएफ की बढ़ती उपस्थिति पंजाब (Punjab) को मजबूत बनाएगी और केंद्रीय सशस्‍त्र बलों को राजनीति में नहीं घसीटा जाना चाहिए. गृह मंत्रालय (Home Ministry) का दावा है कि यह फैसला 10 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों में राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ी अवैध गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए लिया गया है. वैसे, केंद्र के इस कदम के बाद राज्य की स्वायत्तता पर बहस शुरू हो गई है. पंजाब (Punjab) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) चरणजीत सिंह चन्नी ने केंद्र के इस कदम का विरोध किया है.

ज्ञात रहे कि केंद्र ने सीमा सुरक्षा बल के अधिकारियों को पंजाब, पश्चिम बंगाल (West Bengal) और असम में अंतरराष्ट्रीय सीमा (भारत-पाकिस्तान और भारत-बांग्लादेश) से 50 किलोमीटर के दायरे में तलाशी लेने, जब्ती करने और गिरफ्तार करने की शक्ति दे दी है. यानी कि अब मजिस्ट्रेट के आदेश और वॉरंट के बिना भी बीएसएफ इस अधिकार क्षेत्र के अंदर गिरफ्तारी और तलाशी अभियान जारी रख सकता है. गृह मंत्रालय (Home Ministry) का दावा है कि सीमा पार से हाल ही में ड्रोन से हथियार गिराए जाने की घटनाओं को देखते हुए बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र में विस्तार करने का कदम उठाया गया है.

Check Also

इस हफ्ते 10 करोड़ हो जाएगी असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण की संख्या

नई दिल्ली (New Delhi) . सरकार के ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकृत असंगठित श्रमिकों का आंकड़ा …