कोरोना गाईडलाईन को लेकर धरना प्रर्दाशन पर रोक, 12 जिलो मे अलर्ट जारी

(भोपाल (Bhopal) . कोरोना की दुसरी लहर को लेकर सरकार चिंता मे आ गई है ओर उसने इससे निपटने के लिये ऐहतियात बरतते हुए अपनी तैयारियो शुरु कर दी है. प्रदेश के स्वास्थय मंत्री का कहना है, कि मध्य प्रदेश के किसी भी ज़िले को लॉकडाउन (Lockdown) नहीं किया जाएगा और न ही नाइट कर्फ्यू लगाया जाएगा ओर कोरोना संक्रमण रोकने के लिए हर संभव उपाय किए जाएंगे. क़ोरोना के बढते संक्रमण को देखते हुए क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक लगातार हो रही है, इसमें सभी उपायों पर विचार किया जा रहा है.

इस मामले मे प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग का कहना है, कि फिलहाल मध्य प्रदेश के किसी भी ज़िले को लॉकडाउन (Lockdown) नहीं किया जाएगा और न ही नाइट कर्फ्यू लगाया जाएगा. उन्होंने आगे कहा कि मास्क लगाने के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए रोको-टोको अभियान चलाया जाएगा. इसके साथ ही मास्क नहीं लगाने वालो के खिलाफ सख्ती की जायेगी ओर महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना संक्रमण बढ़ने के कारण वहां से आने वाले लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी.

प्रदेश के मुख्यमंत्री (Chief Minister) शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते कहर के चलते हर जिले में क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक हो रही है, ओर आने वाले त्‍योहार किस स्वरूप में मनाएं, इस पर फैसला लिया जा रहा है. खास कर मेलों का क्या स्वरूप होगा उस पर चर्चा होगी. सीएम ने आगे कहा कि जरा सी लापरवाही से हमारी की हुई मेहनत पर पानी फिर जाएगा और प्रदेश फिर से संकट में फंस जाएगा, इसलियेकोरोना संक्रमण को रोकने के लिए हर संभव कदम उठाए जाएंगे. गोरतलब हे कि इससे पहले महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना बढ़ने पर मध्य प्रदेश में अलर्ट जारी किया गया है. इंदौर (Indore) और भोपाल (Bhopal) में मास्क फिर से अनिवार्य किया गया है, वहीं 12 जिलों में सबसे ज्यादा कोरोना का खतरा बताया जा रहा है.

सीएम शिवराज सिंह चौहान की समीक्षा बैठक के बाद आवश्यक निर्देश जारी किए गए हैं. गृह विभाग ने आदेश जारी करते हुए इंदौर, भोपाल (Bhopal) , होशंगाबाद, बैतूल, सिवनी, छिंदवाड़ा (Chhindwara) , बालाघाट, बड़वानी, खंडवा, खरगोन, बुरहानपुर (Burhanpur) और अलीराजपुर के कलेक्टर (Collector) को ज्यादा सावधानी और सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं. इन 12 जिलों को ऐसे मेले जिनमें महाराष्ट्र (Maharashtra) से अधिक संख्या में लोगों आते हैं, उसकी जानकारी 24 फरवरी तक गृह विभाग भेजनी होगी. वहीं धरना प्रदर्शन पर रोक लगाने के फैसले पर कांग्रेस के पूर्व मंत्री पी सी शर्मा ने ऐतराज जताते हुए कहा कि ये विपक्ष की आवाज़ दबाने की कोशिश है, क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप धरने प्रदर्शन पर रोक नहीं लगा सकता. पी सी शर्मा ने कहा 3 मार्च को कांग्रेस का प्रस्तावित धरना अवश्य होगा.

Check Also

अमेरिका की पूर्व प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप को आई दिल्‍ली के सरकारी स्‍कूल की याद, बच्चों को भेजा प्यारा सा संदेश

वॉशिंगटन . पति डोनाल्‍ड ट्रंप के राष्‍ट्रपति रहने के दौरान भारत आईं अमेरिका की पूर्व …