अखिलेश ने कहा: संविधान को कुचलने वाली भाजपा सरकार का होगा सफाया

लखीमपुर . उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री (Chief Minister) और समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि लखीमपुर की घटना का वीडियो जिसने भी देखा उसने घटना की निंदा की है. ये संविधान कुचलने वाली सरकार है. सबने सब कुछ देखा फिर भी दोषी अभी तक नहीं पकड़े गए हैं. जिन भी परिवार से मैं मिला सबने कहा कि दोषी को सज़ा मिले.
akhilesh-lakhimpur

अखिलेश यादव ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि लेकिन सरकार अभी भी सो रही है सरकार अभी भी उन्हें (दोषियों को) बचाना चाहती है. ये सरकार केवल ताकतवर लोगों के लिए है, ये सरकार किसानों के लिए नहीं है. जनता ये सब देख रही है, आने वाले समय में बीजेपी का सफाया होगा. इससे पहले अखिलेश यादव ने लखीमपुर हिंसा में मारे गये बहराइच के दो किसानों के घर जाकर उनके परिजनों से मुलाकात की और अपनी संवेदना प्रकट की.

इस मौके पर उन्होंने दावा किया कि लोकतंत्र का गला घोंटकर सच को छिपाने वाली इस सरकार के अब सिर्फ 100 दिन बचे हैं. बहराइच रवाना होने से पहले यादव ने लखनऊ (Lucknow) में पत्रकारों से कहा कि गृह राज्य मंत्री के बेटे को पूछताछ के लिए समन भेजना औपचारिकता है और निष्पक्ष जांच के लिए मंत्री को इस्तीफा दे देना चाहिए.

यादव ने लखीमपुर हिंसा में मारे गए दो किसानों के परिवारों से मिलने के लिए बहराइच रवाना होने से पहले शुक्रवार (Friday) को अपने आवास के बाहर पत्रकारों से कहा, गृह राज्‍य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे को समन भेजना एक औपचारिकता है.

उच्चतम न्यायालय के हस्तक्षेप के बाद सरकार जागी है. मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए अन्यथा उनसे पूछताछ करने वाले अधिकारी को पहले उन्हें सलाम मारना होगा और फिर सवाल पूछना होगा और जाने से पहले उन्हें फिर से सलाम करना होगा.

बहराइच से मिली खबर के मुताबिक सपा प्रमुख लखीमपुर हिंसा में मारे गये बहराइच निवासी दो किसानों के घर पहुंचकर उनके परिजनों से मुलाकात कर अपनी संवेदना व्यक्त की और मृतक किसानों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद पत्रकारों से बातचीत की.

Check Also

बारडोली में सूरत डिस्ट्रिक्ट बैंक में दिन दहाडे 10.40 लाख की लूट; लुटेरे फरार

सूरत (Surat) . जिले के मोता गांव स्थित सूरत (Surat) डिस्ट्रिक्ट कॉ. ऑ. बैंक (Bank) …