आशीष की गिरफ्तारी के बाद अब निशाने पर टेनी


नई दिल्ली (New Delhi) . लखीमपुर कांड में आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी के बाद अब किसान संगठनों ने उनके पिता टेनी को केंद्रीय कैबिनेट से हटाने की मांग तेज कर दी है. संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने रविवार (Sunday) को केंद्र और उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) सरकार को चेतावनी दी कि लखीमपुर हिंसा के मामले में 11 अक्टूबर तक केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को पद से नहीं हटाया गया और गिरफ्तार नहीं किया गया तो वह चरणबद्ध प्रदर्शन शुरू करेगा. इससे पहले एसकेएम ने कहा था कि सरकार के पास मिश्रा के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए 11 अक्टूबर तक का समय है और ऐसा नहीं हुआ तो मोर्चा लखीमपुर खीरी हिंसा के खिलाफ चरणबद्ध प्रदर्शन शुरू करेगा. केंद्र के तीन विवादास्पद कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे 40 किसान संगठनों के संघ एसकेएम ने कहा, ”अजय मिश्रा केंद्र सरकार (Central Government)के मंत्री पद पर हैं, इसलिए स्पष्ट रूप से न्याय के साथ समझौता हो रहा है. उसने कहा, एसकेएम भारत सरकार और उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) सरकार को चेतावनी देता है कि उसके द्वारा दी गयी 11 अक्टूबर की समयसीमा समाप्त होने वाली है. लखीमपुर कांड में सभी दोषियों की गिरफ्तारी के साथ अजय मिश्रा की गिरफ्तारी और बर्खास्तगी का इंतजार है.” केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे को लखीमपुर खीरी हिंसा के सिलसिले में शनिवार (Saturday) देर रात को गिरफ्तार कर लिया गया. उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया और लखीमपुर खीरी की जिला जेल की पृथकवास बैरक में रखा गया. अधिकारियों ने रविवार (Sunday) को यह जानकारी दी.

Check Also

‘देश अंगूठाछाप मोदी के कारण कष्‍ट झेल रहा है’ – कर्नाटक कांग्रेस के बयान पर बवाल

बेंगलुरू (Bengaluru) . कर्नाटक (Karnataka) में दो सीटों पर होने वाले विधानसभा उपचुनाव के पहले …