जमुई, 4 अप्रैल . बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को जमुई में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए दावा किया कि 2005 के बाद काफी काम हुए हैं. हम लोगों के आने के बाद हिंदू, मुस्लिम झगड़ा भी बंद हो गया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में जनसभा को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि 2005 तक बिहार में हिंदू मुस्लिम का खूब झगड़ा होता था. जब हम लोग आ गए तो वह भी बंद हो गया. उन्होंने मुस्लिम मतदाताओं की ओर इशारा करते हुए कहा कि आप लोग अब उनको लाने की गलती नहीं करिएगा. उसको कभी वोट मत दीजिएगा, नहीं तो फिर से हिंदू मुस्लिम का झगड़ा शुरू कर देगा.

उन्होंने विश्वास दिलाया कि जब तक हम हैं निश्चिंत रहिए, कोई हिंदू मुस्लिम में झगड़ा नहीं होगा. उन्होंने बिहार की धरती पर प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत करते हुए जननायक कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न दिए जाने के लिए अभिनंदन किया.

उन्होंने कहा कि जननायक कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न सम्मान दिलाकर न सिर्फ बिहार की गरिमा बढ़ाई, बल्कि वर्षों पुरानी मांग भी पूरी कर दी. यह बात बिहार के लोग भूलेंगे नहीं. आपने कर्पूरी ठाकुर जी के काम को सम्मान दिया. भाजपा के साथ मिलकर हम लोगों ने बहुत काम किया है.

नीतीश कुमार ने पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को लेकर कहा कि बीच में एक बार हम उसके साथ चले गए, तो अब बहुत बड़ी-बड़ी बातें बनाता है. मुख्यमंत्री ने भरोसा देते हुए कहा कि अब हम इधर आ गए हैं तो उधर नहीं जाना है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि नरेंद्र मोदी 10 साल से प्रधानमंत्री हैं. इन्होंने बिहार के लिए भी बहुत काम किया है.

उन्होंने लोगों को 2005 के पहले के बिहार को याद करने की बात करते हुए कहा कि लोग घर से बाहर नहीं निकलते थे. 15 साल तक उन लोगों को मौका मिला. लेकिन, कोई काम नहीं किया. जब हम लोगों को मौका मिला तो सब कुछ बदलकर रख दिया. उन्होंने भरोसा दिलाया कि इस बार बिहार की सभी 40 सीटें एनडीए जीतेगी. एनडीए 400 से ज्यादा सीटें जीतेगी और अधिक मजबूती से नरेंद्र मोदी फिर से प्रधानमंत्री बनेंगे.

एमएनपी/एबीएम