स्पेन के एक 112 वर्ष के शख्स को ‎मिला गिनीज बुक में दुनिया के सबसे बुजुर्ग पुरुष का दर्जा

मैड्रिड . गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रेकॉर्ड ने दुनिया के सबसे बुजुर्ग पुरुष की घोषणा कर दी है. यह दर्जा मिला है स्पेन के एक शख्स को जिनकी उम्र 112 साल और 211 दिन है. उन्होंने अपने लंबे जीवन का राज भी बताया है. अपनी कम लंबाई की वजह से उन्हें जंग में भी नहीं जाना पड़ा लेकिन वह खेल-कूद में खूब आगे रहे जिससे चुस्त-दुरुस्त बने रहे. सैटरनीनो का जन्म 11 फरवरी, 1909 को स्पेन के लियोन में पुएंटो कास्ट्रो में हुआ था. उनका कद 4.92 फीट है जिसकी वजह से वह 1936 में होने वाले स्पेन के गृह युद्ध में हिस्सा लेने नहीं गए. जब युद्ध चल रहा था तो वह शांति से अपनी पत्नी के साथ जीवन व्यतीत करते रहे. वह जूता बनाने का काम करते थे और उसी में जुटे रहे. उनका कहना है कि शांत रहना ही उनके लंबे जीवन का राज है. सैटरनीनो को फुटबॉल बहुत पसंद है और वह कई साल तक इसे खेलते रहे. उन्होंने एक स्थानीय टीम भी बनाई. वह कल्चरल लियोनेसा क्लब को सपॉर्ट भी करते हैं. उनके और पत्नी ऐन्टोनीना बारियो गुटिएरेज के सात बेटियां और एक बेटा था. बेटे का निधन बचपन में ही हो गया था. उनका ध्यान अब एक बेटी और दामाद रखते हैं. उनके परिवार में 14 पोते-पोतियां और 22 पड़पोते-पोतियां हैं. कोविड-19 (Covid-19) के कारण वह अपने परिवार से अलग रह रहे थे लेकिन अब 112वें जन्मदिन पर जश्न में सभी शामिल हुए हैं. वहीं दुनिया की सबसे बुजुर्ग इंसान का दर्जा मिला है जापान की केन तनाका को जिनकी उम्र 118 साल है. अभी तक सबसे लंबा जीवन फ्रांस की जीन लुईज कालमेंट का रहा है जिनका जन्म 21 फरवरी, 1875 को हुआ था और निधन 122 साल की उम्र में हुआ.

Check Also

सेक्स करने में दे रही थी दिक्कत, इसकारण लेस्बियन पार्टनर ने 16 माह की बच्ची को मार डाला

लंदन . ब्रिटेन की रहने वाली 20 साल की महिला ने अपने 28 साल की …