70 हजार मस्जिदों ने घटाई अजान के लाउडस्पीकरों की आवाज

जकार्ता . इंडोनेशिया में 21 करोड़ मुस्लिम आबादी रहती है. इस देश ने लोगों की शिकायतों का ध्यान रखते हुए अजान के लाउडस्पीकरों की आवाज घटाई गई है. इंडोनेशिया मस्जिद परिषद के मुताबिक, बीते 6 दिनों में कम से कम 70 हजार मस्जिदों के लाउडस्पीकर की आवाज धीमी की गई है. तेज आवाज से परेशान लोगों ने डिप्रेशन और चिड़चिड़ेपन की शिकायत की थी, जिसके बाद इंडोनेशिया मस्जिद परिषद के अध्यक्ष यूसुफ काल्ला ने ये पहल की.

इंडोनेशिया मस्जिद परिषद के अध्यक्ष यूसुफ काल्ला ने बताया ज्यादातर मस्जिदों के लाउडस्पीकर्स ठीक नहीं थे. ऐसे में अजान की आवाज तेज आती है. परिषद ने 7 हजार टेक्निशियनों को इस काम पर लगाया. अब देश की लगभग 70 हजार मस्जिदों के लाउडस्पीकरों की आवाज कम की गई है. यूसुफ का कहना है कि इसके लिए कमेटी भी बनाई गई है. परिषद के समन्वयक अजीस का कहना है कि अजान की तेज आवाज इस्लामिक परंपरा है, ताकि आवाज दूर-दराज तक जाए. वहीं, जकार्ता की अल-इकवान मस्जिद के चेयरमैन अहमद तौफीक का कहना है कि लाउडस्पीकरों की आवाज कम करना पूरी तरह से खुद की पहल है. इसपर किसी ने कोई दबाव नहीं डाला. सामाजिक सौहार्द बनाए रखने के मकसद से ऐसा किया गया. रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले कुछ समय से देश में अजान के लाउडस्पीकरों की तेज आवाज को लेकर विरोध में स्वर उठने लगे थे. लोगों ने ऑनलाइन शिकायतें की थीं. लोगों का कहना था कि लाउडस्पीकरों की तेज आवाज से उनके मेंटल हेल्थ पर बुरा असर पड़ रहा है. उन्हें डिप्रेशन और नींद नहीं आने की दिक्कतें आ रही हैं. इंडोनेशिया में दुनिया के किसी भी अन्य देश की तुलना में मुसलमानों की एक बड़ी आबादी है, जिसमें लगभग 20.29 करोड़ स्वयं को मुस्लिम (2011 में इंडोनेशिया की कुल जनसंख्या का 87.2 फीसदी) के रूप में पहचानते हैं. नसांख्यिकीय आंकड़ों के आधार पर, 99 फीसदी इन्डोनेशियाई मुस्लिम मुख्य रूप से शनिष्ठ स्कूल के सुन्नी न्यायशास्त्र का पालन करते हैं. लगभग 10 लाख शिया अहमदी मुसलमान हैं.

Check Also

ब्रिटेन की महारानी के प्रभाव से मुक्त हुआ बारबाडोस द्वीप, बना पूर्ण गणतंत्र

लंदन . कैरेबियाई द्वीपों के प्रमुख राष्ट्र (लिटिल इंग्‍लैंड) ब्रिटिश महारानी के शिकंजे से पूरी …