छत्रपति संभाजीनगर (महाराष्ट्र), 3 अप्रैल . यहां शहर के छावनी क्षेत्र के दानाबाजार इलाके में बुधवार को एक दुकान में आग लग गई और ऊपर स्थित उनके घर को भी अपनी चपेट में ले लिया, जिससे सात सदस्यीय परिवार की नींद में ही मौत हो गई. पुलिस ने यह जानकारी दी.

पुलिस आयुक्त मनोज लोहिया ने कहा कि आग सुबह करीब 4 बजे दुकान के बाहर लगी और तेजी से ऊपर की दो मंजिलों तक फैल गई, जहां परिवार गहरी नींद में सो रहा था.

एक अन्य व्यक्ति, जिसके बारे में कहा गया कि वह दुकान में सो रहा था, उसका पता नहीं चल पाया है.

शुरुआती जांच के मुताबिक, आग लगने का कारण एक इलेक्ट्रिक स्कूटर माना जा रहा है, जिसे नीचे चार्जिंग के लिए प्लग किया गया था और आग की लपटें तेजी से कपड़ों की सामग्री से भरी बगल की असलम टेलर की दुकान तक फैल गईं.

आग की लपटों ने तेजी से ऊपरी मंजिल को अपनी चपेट में ले लिया, जहां परिवार रहता था. बताया जाता है कि ज्यादातर लोगों की मौत धुएं से दम घुटने के कारण हुई.

स्थानीय लोगों की एसओएस कॉल मिलने के कुछ ही मिनटों के भीतर पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम वहां पहुंची. टीम ने दो नाबालिग, तीन महिलाएं और दो पुरुषों को मृत पाया. शवों को पोस्‍टमार्टम के लिए सरकारी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल भेजा गया है.

मरने वालों में हमीदा बेगम ए अजीज (50), उनके बेटे और बहू वसीम अब्दुल शेख (30), उनकी पत्‍नी तनवीर (23), सोहेल अब्दुल अजीज (35), उनकी पत्‍नी रेशमा (32) और उनके बच्चे – 3 साल की लड़की असीम और 2 साल का बेटा पारी शामिल है.

लोहिया ने कहा कि आग की इस घटना ने रमजान के पवित्र महीने में मुस्लिम बहुल शहर को सदमे में डाल दिया. हादसे की गहन जांच की जा रही है.

एसजीके/