परवल तोड़ने गई महिला को बाघ ने बनाया निवाला

बहराइच, 09 नवम्बर (उदयपुर किरण). कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग के कतर्नियाघाट रेंज के आंबा विशुनापुर के निकट जंगल किनारे खेत में परवल तोड़ने गई महिला पर बाघ ने हमला कर उसे अपना निवाला बना लिया. आधे घंटे तक बाघ खेत में डटा रहा. ग्रामीणों के हांका लगाने पर वह अधखाया शव छोड़कर जंगल की ओर भाग गया. सूचना पाकर वनाधिकारी मौके पर पहुंच गए. शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है. इस घटना के बाद क्षेत्र के लोग दहशतजदा हैं.

कतर्नियाघाट संरक्षित वन क्षेत्र के कतर्नियाघाट रेंज में आंबा विशुनापुर गांव स्थित है. इस गांव की रहने वाली गुलाबिया(40) पत्नी जगतराम गांव से एक किलोमीटर दूर अपने खेत में परवल तोड़ने गई थी. परवल तोड़ने के दौरान जंगल से निकले बाघ ने गुलाबिया पर हमला कर उसे निवाला बना लिया. चीख-पुकार सुनकर अासपास मौजूद ग्रामीण व अन्य लोग दौड़े, लेकिन बाघ को देखकर ग्रामीण सहम गए. लोगों ने शोर मचाना शुरू किया. रेंज कार्यालय पर सूचना दी गई, फिर भी आधे घंटे तक बाघ मौके पर डटा रहा. ग्रामीणों के मशाल जलाकर हांका लगाने पर बाघ जंगल में घुस गया. घटना की सूचना पाकर सुजौली थानाध्यक्ष अफसर परवेज पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए. घटनास्थल निरीक्षण किया. पुलिस ने शव का पंचनामा करवाया.

एसओ ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा दिया गया है. डीएफओ कतर्नियाघाट जीपी सिंह ने बताया कि महिला के शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है. विभाग की ओर से जो भी नियमानुसार मुआवजा होगा वह मृतका के परिवार को मुहैया कराया जाएगा. मौके पर वन कर्मियों को तैनात किया गया है, जो लगातार क्षेत्र में अपनी नजर बनाए हुए हैं. ग्रामीणों को सतर्क रहने के लिए जागरूक कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि पगचिह्नों को देखकर ही पता चलेगा कि महिला को निवाला बनाने वाला तेंदुआ है या बाघ. डब्ल्यूडब्ल्यूएफ के परियोजना अधिकारी दबीर हसन ने बताया कि मृतका के परिजन को 10 हजार रुपये तत्काल अहेतुक सहायता दी गई है. मुआवजा देने के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.

http://udaipurkiran.in/hindi

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*