गाड़ी धोते समय तीन सगे भाई नहर में डूबे, तीनों की मौत

कोटा, 07 नवंबर (उदयपुर किरण). कुन्हाड़ी थाना क्षेत्र के बापू नगर कच्ची बस्ती में रहने वाले तीन सगे भाई के नहर में डूबने से मौत होने पर दीपावली की खुशियां मातम में बदल गई. नगर निगम की रेस्क्यू टीम ने दो युवकों के शव को रेस्क्यू कर नहर से बाहर निकाले.
कुन्हाड़ी के बापू नगर कच्ची बस्ती में रहने वाले त्रिलोक (35) पुत्र रूपचंद्र, गोविंद (19) व युवराज (15) तीनो दीपावली पर वाहनों की पूजा करने से पूर्व उन्हें धोने के लिए बालिता केनाल रॉड नांता से कापरेंन की ओर निकल रही नहर पर पहुचे थे.

इनके साथ ड्राइवर बिरजू व दो कर्मचारी अजर मोहम्मद व महावीर भी साथ थे. जिस समय दोनो कर्मचारी लोडिंग वहां को धो रहे थे. उसी समय तीनो भाई व ड्राइवर मजाक कर रहे थे इतनी में त्रिलोक नहर कूद गया जिससे उसे नधर में डूबता देखा ड्राइवर अजहर उसे बचाने के लिए कूदा जिसे दोनो कर्मचारी अजहर मोहम्मद व महावीर ने ड्राइवर को बाहर निकल लिया लेकिन त्रिलोक को डूबता देख दोनो भाई गोविंद व युवराज भी नहर में कूद गए. इतने में त्रिलोक किनारे पर लग कर नहर के बाहर आया पर जैसे ही उसे पता चला कि उसके दोनों भाई नहर में डूब रहे है तो वो फिर से उन्हें बचाने के लिए नहर में कूद गया. घटना की जानकारी पर नगर निगम की रेस्क्यू टीम विष्णु श्रंगी के नेतृत्व में मौके पर पहुची.

कुन्हाड़ी पुलिस ने नगर निगम रेस्क्यू टीम की सहायता से गोविंद व युवराज के शवों को बाहर निकालकर एबीएस अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है. तीनो भाइयो में से त्रिलोक की शादी हुई थी जिसके एक 10 साल की लड़की व एक 7 साल का लड़का है. परिवार में बूढे मां बाप बचे है, त्रिलोक की कुन्हाड़ी में स्क्रेब टायर की बजरंग टायर के नाम से दुकान थी. कुन्हाड़ी थाना एएसआई अतरसिंह ने बताया कि तीनों भाई दोपहर 1 बजे लोडिंग वाहन धोने के लिए नहर पर आए थे जहां चम्बल नहर में डूबने से तीनों सगे भाई की मौत हो गई. जिसमें दो के शव को नगर निगम की रेस्क्यू टीम के मदद से नहर से बाहर निकाला गया, बड़े भाई त्रिलोक के बॉडी की तलाश जारी है. दोनो युवको के शव को एमबीएस अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी.

http://udaipurkiran.in/hindi

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*