वियतनाम में हर महीने होता है लैंटर्न फेस्टिवल; संस्कृति का सम्मान और बुरी आत्माओं से मुक्ति के लिए नदी में छोड़ते हैं दीपक

जिस तरह भारत में दीपों का पर्व दीपावली मनाते हैं वैसा ही कई देशों में मनाया जाता है. इन्हीं में से एक है वियतनाम जहां हर महीने पूर्णिमा पर लैंटर्न फेस्टिवल मनाया जाता है. मान्यता है कि पूर्ण चंद्र के दिन यानी पूर्णिमा को ही भगवान बुद्ध का जन्म हुआ और ज्ञान प्राप्त हुआ था. बुद्धिज़्म में इसे ट्रांसफॉर्मेशन का सबसे बेहतर वक्त मानते हैं.

आध्यात्मिक मूल्य, संस्कृति का सम्मान और बुरी आत्माओं से मुक्ति के लिए भी लैंटर्न फेस्टिवल मनाते हैं. परंपरागत रूप से यह अच्छी फसल, अच्छे खाने, बुरी आत्माओं से मुक्ति के लिए देवताओं और पूर्वजों को धन्यवाद करने का वक्त भी है. इस दौरान नदियों में फूलों के साथ दीए या दीपक छोड़ने की परंपरा है. 15वीं सदी पुराना होई एन शहर लैंटर्न फेस्टिवल का प्रमुख केंद्र है. यह यूनेस्को की वर्ल्ड हेरिटेज में शामिल है. यह फोटो ह्यू प्रांत की परफ्यूम रिवर की है. फूल झड़कर पानी में गिरने और महक आने की वजह से इसका नाम परफ्यूम रिवर पड़ा. इस फोटो को वियतनाम के ही मिन्ह नगो थान्ह ने लिया है. @ minhngothanh.com

http://udaipurkiran.in/hindi

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*