दो बहनों के द्वंद्व की कहानी है पटाखा, नायिकाओं की मां का रोल कर रही है देवप्रभा

उदयपुर. लेकसिटी में प्रतिभाओं की कमी नहीं है. अनेक प्रख्यात फिल्मकार भी यहां की खूबसूरत वादियों को अपने कैमरे में कैद कर विश्व पटल पर शहर का नाम करने में पीछे नहीं है तो अनेक रंगकर्मी भी अनेक फिल्मों के हिस्सा रहे हैं. इसी कड़ी में एक और नाम जुड़ड़ा है, वह है देवप्रभा जोशी का, जिन्होंने ओमकारा, हैदर सरीखी फिल्में बना चुके निर्माता-निर्देशक विशाल भारद्वाज की आने वाली फिल्म पटाखा में अपने उम्दा अभिनय की छाप छोड़ी है. नाट्यांश सोसायटी से उभरी इस कलाकार ने पटाखा फिल्म में दोनों नायिकाओं की मां का रोल किया है जिसकी यौवनावस्था में मौत हो जाती है. पटाखा दो बहनों के परस्पर द्वंद्व की कहानी है जो एक दूसरे से दो-दो हाथ करने से कभी नहीं चूकती.

आगामी 28 सितंबर को रूपहले पर्दे पर आ रही विशाल भारद्वाज के निर्देशन में बनी इस फिल्म का नाम पहले छुरियां था,बाद में पटाखा कर दिया गया. फिल्म का पहला पोस्टर जारी हो गया है जिसमें दो लड़कियां बुरी तरह लड़ रही हैं. ये फिल्म छुटकी और बड़की नाम की दो बहनों की कहानी है. फिल्म में मेरी आशिकी तुमसे ही फेम टीवी स्टार राधिका मदान और दंगल गर्ल सान्या मल्होत्रा है. कॉमेडियन सुनील ग्रोवर और विजय राज की भी अहम भूमिका है. यह फिल्म राजस्थान के कहानीकार चरण सिंह पथिक की कहानी दो बहनें पर आधारित है. पथिक राजस्थान के करौली जिले के एक छोटे से गांव रौंसी से आते हैं और पेशे से अध्यापक हैं. विशाल भारद्वाज ने अपनी फिल्मों के लिए शेक्सपीयर के उपन्यासों से हटकर इस बार पथिक को मौका दिया है. इस फिल्म की शूटिंग माउंट आबू और उदयपुर में हुई थी.

अप्रैल में आॅडिशन और सलेक्शन

कोटा जिले के रामगंजमंडी में रहने वाली देवप्रभा जोशी ने बीटेक किया है. देवप्रभा ने दैनिक नवज्योति से बातचीत में बताया कि बचपन से उन्हें फिल्में देखने का शौक था तो मन में ख्याल आता था कि वह भी अभिनय के क्षेत्र में अपनी किस्मत आजमाएगी. करीब नौ साल पहले परिवार के साथ उदयपुर आकर उन्होंने नाट्यांश सोसायटी को ज्वाइंन किया और अनेक नाटकों में अभिनय किया. उन्होंने बताया कि इस साल अपे्रल में विशाल भारद्वाज की फिल्म पटाखा के लिए आॅडिशन हुए. भारद्वाज को अपनी फिल्म में यंग मदर के रोल के लिए नए चेहरे की तलाश थी. उसने आॅडिशन दिया और सलेक्ट हो गई. हालांकि फिल्म में उनका रोल ज्यादा नहीं है. उन्होंने विजयराज की पत्नी का रोल निभाया है, जिसका दो बच्चियों को जन्म देने के बाद निधन हो जाता है. इसके बाद वह दीवार पर टंगी तस्वीर में ही नजर आती है. देवप्रभा इससे पहले तीन-चार शॉर्ट फिल्में कर चुकी हैं. वहीं रोज पब्लिसिटी की पुस्तक में इश्क ए नगमा भी लिख चुकी है. वह एक्टिंग में ही अपना करिअर बनाना चाहती हैं.

Report By Udaipur Kiran

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*