आत्महत्या की आशंका से आईपीएस भारती के पति को अन्य कैदियों के साथ रखने की तैयारी

digital technology concept design

कोलकाता, 14 सितंबर (उदयपुर किरण).‌ पश्चिम मेदनीपुर की पूर्व एसपी आईपीएस भारती घोष के पति एमएवी राजू के आत्महत्या की आशंका के मद्देनजर मेदनीपुर जेल में अन्य कैदियों के साथ शिफ्ट करने की तैयारी की जा रही है. शुक्रवार को जेल प्रबंधन के सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी गई है.

आठ अगस्त को राज्य सीआईडी की टीम ने राजू को‌ कलकत्ता हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद गिरफ्तार कर लिया था एवं पश्चिम मेदिनीपुर जिले की घटाल अदालत में पेश कर मेदनीपुर जेल भेज दिया था. भारती घोष के खिलाफ चल रहे भ्रष्टाचार और सोना लूट के मामले की जांच में सीआईडी ने भारती के पति राजू के कोलकाता स्थित आवास पर छापेमारी की थी जहां से करोड़ों की नकदी व अन्य सामान जब्त हुए थे. इसके बाद बाद राजू के खिलाफ वारंट जारी किया गया था. गिरफ्तारी के बाद उन्होंने न्यायालय में यह आशंका जताई थी कि उन्हें अन्य कैदियों के साथ रखने पर सीआईडी की टीम उनकी हत्या करवा सकती है, जिसके बाद घाटाल अदालत के न्यायाधीश अनिर्वाण चौधरी ने उन्हें अलग सेल में रखने का निर्देश दिया था, लेकिन एक महीने से अधिक समय तक अकेले रहने के बाद अब वह अवसादग्रस्त होने लगे हैं.

राजू के वकील ने न्यायालय को बताया कि अकेले रहने की वजह से वे तनावग्रस्त रहने लगे हैं एवं आत्महत्या आदि करने का विचार उनके मन में आ रहा है. ऐसे में उनकी सुरक्षा के लिए उन्हें जेल में अन्य कैदियों के साथ ही रखा जाए. जेल में बंद अन्य कैदियों को टेलीविजन आदि देखने की सुविधा भी है लेकिन राजू अकेले सेल में रहने की वजह से इन सब चीजों से वंचित हो जाते हैं. सारा दिन किसी से बात नहीं करने के कारण उनके मन में तमाम तरह के गलत ख्याल आते रहे हैं. ऐसे में उन्हें अलग जेल से हटाकर बाकी कैदियों के साथ ही रखा जाए. अधिवक्ता की ओर से लगाई गई याचिका के बाद न्यायाधीश ने जेल प्रबंधन को इस पर रिपोर्ट देने को कहा है. सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि सोमवार से एमएवी राजू को मेदिनीपुर जेल में अन्य कैदियों के साथ शिफ्ट कर दिया जाएगा ताकि दूसरे कैदियों से बातचीत कर अपना समय गुजार सकें.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*