15 लाख की लूट का मामला 90 लाख का निकला, साजिशकर्ता परिवादी मुनीम सहित चार गिरफ्तार

सीकर, 13 जुलाई (उदयपुर किरण). पुलिस अधीक्षक गगनदीप सिंगला के कार्यभार ग्रहण करने के दिन ही आठ जुलाई को शहर में दिनदहाड़े हुई 15 लाख की लूट का शनिवार को खुलासा हो गया. प्रतिष्ठा का सवाल बनी वारदात पर कोतवाली पुलिस में पुलिस अधीक्षक ने स्वयं डेरा डाल टीमों का गठन कर निगरानी की. जांच में रिपोर्टकर्ता रजनीगंधा पान मसाले के विक्रेता संदीप बियाणी का मुनीम ही साजिशकर्ता निकला तथा पुलिस में दर्ज लूट की राशि भी 15 लाख की बजाय 90 लाख रुपये साबित हुई.

पुलिस ने चार आरोपितों को गिरफ्तार कर लूट की राशि में से 85 लाख 32 हजार रुपए बरामद कर लिए है. वारदात का मुख्य शातिर अपराधी फरार है जिसकी तलाश की जा रही है.

पुलिस अधीक्षक गगन दीप सिंगला ने बताया कि गिरफ्तार आरोपितों में रिपोर्टकर्ता व्यापारी का मुनीम रविशंकर उर्फ लालू पुत्र गोपालराम माली उम्र 27 वर्ष निवासी वार्ड संख्यां 14 मोहल्ला मालियों का, सालासर रोड, आवेश उर्फ वसीम पुत्र विशाल अहमद निवासी मोहल्ला रोशनगंज, शरीफ उर्फ बाबी उर्फ लंगड़ा पुत्र नवाब अली निवासी मोहल्ला हुसैनगंज तथा शरीफ अहमद ठेकेदार पुत्र जमील अहमद कायमखानी मुसलमान निवासी मोहल्ला हुसैन गंज है. वारदात का मुख्य आरोपित हुसैन उर्फ अज्जू पहलवान निवासी जयपुर फरार है जिसकी तलाश की जा रही है.

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि रजनीगंधा पान मसाले की वितरक कम्पनी भवानी एंटरप्राईजेज के मुनीम रविशंकर  ने अपने दोस्त शरीफ उर्फ बाबी लंगड़ा के साथ वारदात की योजना बनाई. मुनीम ने व्यापारी के कलेक्शन की राशि व आने जाने के समय व स्थान की सूचना देकर योजना तैयार की. आरोपित शरीफ ने अपने दोस्त शरीफ अहमद ठेकेदार तथा आवेश उर्फ वसीम के साथ बातचीत कर एक बाहरी व्यक्ति को शामिल करना तय किया. आरोपितों ने इसके लिए अपने दोस्त हुसैन उर्फ अज्जू उर्फ पहलवान पुत्र मुस्ताक निवासी हसनपुरा जयपुर को बुलाया. वारदात के चार दिन पूर्व सभी ने घटनास्थल का निरीक्षण कर परीक्षण के तौर पर रिहर्सल किया. 8 जुलाई को मुनीम रविशंकर मोटरसाईकिल पर एक अन्य कर्मचारी गजानंद के साथ कलेक्शन लेकर तय सुदा स्थान पर पंहुच कर पहले से तैयार खड़े आरोपितों को इशारा किया. इशारा मिलते ही मोटरसाईकिल पर सवार आरोपितों ने मुनीम की मोटरसाईकिल जबरन रूकवा कर नोटों से भरा थेला लिए पीछे बैठे कर्मचारी को धक्का देकर थेला लूट फरार हो गए. स्‍थानीय रास्तों की जानकारी रखने वाले स्थानीय आरोपित सीघे शरीफ अहमद ठेकेदार के घर जाकर लूट की राशि का थेला थमा दिया. लूट की राशि के बंटवारें में भी बीस लाख रूपये कम बता कर आपस में बंटवारा कर लिया.

पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में उच्चाधिकारियों की साईबर पुलिस टीम ने मोबाईल फोन, क्षेत्र में लगे सीसीटीवी केमरों के रिकार्ड कों खंगाला साथ ही वारदात में काम ली गई मोटरसाईकिल के मालिक की पहचान के लिए गत दो वर्ष में परिवहन विभाग में पंजीकृत संबधित मॉडल की मोटरसाईकिल का रिकार्ड देख आरोपितों की पहचान की. पुलिस ने संदिग्ध आरोपितों को हिरासत में लेकर गहनता से पूछतात में मामले का खुलासा हुआ. वारदात के बाद फरार चल रहे हुसैन उर्फ अज्जू पहलवान निवासी जयपुर आदत्तन अपराधी है जिसके विरूद्ध लूट व मारपीट के अनैक मामले चल रहे है. अन्य आरोपितों में शरीफ उर्फ बाबी उर्फ लंगडा पुत्र नवाब अली के विरूद्ध कोतवाली पुलिस सीकर की ओर से एक मामले का चालान किया गया है. अन्य आरोपितों की पहली वारदात है.  पुलिस मामले की जांच कर रही है.

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*