10 लाख की नकदी व पिस्तौल लूट के आरोपितों की रेल मार्ग से भागने की थी सूचना, अलर्ट के बाद नौ गिरफ्तार

चित्तौडग़ढ़, 16 मार्च (उदयपुर किरण). प्रदेश के अजमेर में कार से करीब 10 लाख की नकदी व पिस्तौल लूट के मामले की सूचना मिलते ही पुलिस अलर्ट हो गई. अजमेर पुलिस के तार जुड़े तो आरोपितों के रेल मार्ग से भागने की बात सामने आई. इस पर रेलमार्ग पर नजर रखना शुरू कर दिया. अजमेर पुलिस की सूचना पर चित्तौड़गढ़ जिले की निम्बाहेड़ा पुलिस ने शुक्रवार रात निम्बाहेड़ा रेलवे स्टेशन पर ट्रेन में सवार तमिलनाडू के गिरोह के नौ सदस्यों को पकड़ा. इसकी जानकारी मिलने पर शुक्रवार देर रात ही अजमेर की पुलिस चित्तौड़गढ़ के निम्बाहेड़ा पहुंची. सभी आरोपितों को ट्रांजिक रिमांड पर सौंपा है.

जानकारी के अनुसार शुक्रवार को अजमेर में लूट की बड़ी वारदात होने के बाद पुलिस इसके खुलासे में जुट गई. अजमेर कोतवाली थानाप्रभारी छुट्टनलाल व अजमेर जीआरपी थानाप्रभारी रामावतार से प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपितों के रेलमार्ग से भागने की सूचना पर अजमेर जीआरपी थाने का जाब्ता मौके पर पहुंचा और तब तक आरोपित फरार हो चुके थे. स्टेशन के आस-पास सर्च ऑपरेशन चलाया गया, जिसमें लूटी गई पिस्टल, खाली सूटकेस एवं कागजात जीआरपी को मिल गए. सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपितों के अजमेर स्टेशन पर जोधपुर-इंदौर ट्रेन में बैठने की जानकारी मिली. इस पर पुलिस ने संबंधित थाना क्षेत्रों को मामले की जानकारी दी. साथ ही संदिग्धों के फोटो भी भिजवाए, जिसके आधार पर निम्बाहेड़ा स्टेशन पर कोतवाली थाना पुलिस ने प्रभारी हिमांशुसिंह राजावत के नेतृत्व में कार्यवाही करते हुए गैंग के नौ सदस्यों को धर दबोचा.

बीती रात पुलिस द्वारा फिल्मी स्टाइल में ट्रेन से भाग रहे लूट के आरोपितों को ट्रांजिट रिमांड के जरिये अजमेर कोतवाली थाना पुलिस को सौंपा गया, जहां से उसे विशेष न्यायालय में पेश किया गया. गौरतलब है कि शुक्रवार दोपहर को अजमेर के कोतवाली थाना क्षेत्र के हाथीभाटा में गुलेल मार कर व्यवसायी से 10 लाख की नकदी व लाईसेंसी रिवॉल्वर लूट कर भागे आरोपितों को शुक्रवार रात निम्बाहेड़ा कोतवाली थाना पुलिस ने जोधपुर-इंदौर ट्रेन से जिले के निम्बाहेड़ा स्टेशन से धर दबोचा. पुलिस ने रंजन पुत्र अमरनादन, आनंद पुत्र विश्वनादन, नवीन कुमार पुत्र कादिरवेल, शक्तिवेल पुत्र आरमुगम, कनन पुत्र गोपाल, वेंकटेश पुत्र कृष्णाप्पा, शिवा पुत्र नियान दुरई, सुरेश कुमार पुत्र नारारायण स्वामी, कुमरन पुत्र कृष्णनन को गिरफ्तार किया है. इनका सरगना षणमुगम अजमेर से लूट की वारदात को अंजाम देने के बाद बस में बैठ कर फरार हो गया, जिसकी पुलिस को तलाश है. सभी आरोपित तमिलनाडु राज्य के तिरूअनंतपुरूम् क्षेत्र के निवासी होकर अंतर्राष्ट्रीय गिरोह के सदस्य है.


http://udaipurkiran.in/hindi

The post 10 लाख की नकदी व पिस्तौल लूट के आरोपितों की रेल मार्ग से भागने की थी सूचना, अलर्ट के बाद नौ गिरफ्तार appeared first on DAINIK PUKAR. Dainik Pukar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*