होलाष्टक 13 से, शुभ कार्य बंद, 20 को होगा दहन 

ग्रह-नक्षत्र : होलिका दहन के समय चंद्रमा सिंह राशि में रहेगा, आपसी समता व प्रेम बढ़ेगा

17 जनवरी से शुरू हुए शादी समारोहों पर 13 मार्च के बाद ब्रेक लग जाएगा. फाल्गुन शुक्ल अष्टमी 14 मार्च से होलाष्टक लगेगा जो 21 मार्च पूर्णिमा तक रहेगा.
होलाष्टक में कोई शुभ कार्य नहीं होंगे. ज्योतिष बताते हैं कि इस बार होलिका दहन 20 मार्च बुधवार को चतुर्दशी युक्त पूर्णिमा में मनाया जाएगा. 20 को रात 9 बजे तक भद्रा रहेगी. इससे होलिका दहन भद्रा के बाद 9.15 बजे श्रेष्ठ समय में किया जाएगा.

होलिका दहन के समय चंद्रमा सिंह राशि में रहेगा. सिंह राशि का स्वामी सूर्य बुध का मित्र ग्रह होने से आपसी समता व प्रेम बढ़ेगा. दूसरे दिन धुलंडी मनाई जाएगी. माना जाता है कि होलाष्टक में ग्रहों का स्वभाव उग्र हो जाता है. सभी नौ ग्रह अष्टमी से पूर्णिमा तक उग्र रहते हैं. ज्योतिषविदों के मुताबिक सभी शुभ और मांगलिक कार्यों के लिए ग्रहों का सौम्य होना जरूरी है. होलाष्टक के दिनों में ग्रहों के उग्र होने की वजह से नया व्यापार, गृह प्रवेश, विवाह, वाहन क्रय, जमीन व मकान की खरीदारी सहित अन्य मांगलिक कार्य वर्जित रहते हैं.

अबूझ मुहूर्त : 8 मार्च को फुलेरा दूज, 7 मई अक्षय तृतीय, 13 मई जानकी नवमी, 18 मई पीपल पूनम, 12 जून गंगा दशमी, 10 जुलाई भड़ल्या नवमी, 12 जुलाई देवशयनी एकादशी, 8 नवंबर देवउठनी एकादशी के अबूझ मुहूर्त हैं.

16 अप्रैल से फिर बजेंगी शहनाई

ज्योतिषियों ने बताया कि 15 मार्च को मीन का मलमास लग जाएगा. सूर्य जब गुरु की राशि धनु और मीन राशि में प्रवेश करता है तब मलमास लग जाता है. 15 मार्च को सुबह 5.45 बजे सूर्य मीन राशि में प्रवेश करेगा. सूर्य मीन राशि में 14 अप्रैल को दोपहर 2 बजे तक रहेगा. शुभ कार्य 15 अप्रैल से शुरू हो सकेंगे. 16 अप्रैल को फिर से शहनाइयां बजने लगेंगी. 12 जुलाई को देवशयन होगा. इससे फिर चार माह तक कोई शुभ और मांगलिक कार्य नहीं हो सकेंगे. 8 नवंबर को देवउठनी एकादशी से फिर से शहनाइयां बजने लगेंगी.


http://udaipurkiran.in/hindi

The post होलाष्टक 13 से, शुभ कार्य बंद, 20 को होगा दहन  appeared first on DAINIK PUKAR. Dainik Pukar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*