हरिद्वार कुंभ के लिए सरकार ने जारी की एसओपी

देहरादून (Dehradun) . उत्तराखंड सरकार ने हरिद्वार (Haridwar) में शुरू होने वाले कुंभ मेला 2021 को लेकर श्रद्धालुओं के लिए एसओपी जारी की है. कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं को कोविड-19 (Covid-19) का टेस्ट कराना जरूरी होगा. पंजीकरण के लिए वेब पोर्टल का एड्रेस भी जारी कर दिया गया है. विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं को कोरोना से बचाव के मद्देनजर केंद्र सरकार (Central Government)की गाइडलाइन का पालन करना होगा. श्रद्धालुओं को 72 घंटे पहले की कोविड-19 (Covid-19) की नेगेटिव रिपोर्ट लानी होगी. अन्य राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं को संबंधित राज्य से मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट लाना होगा. आरटी पीसीआर रिपोर्ट के आधार पर ही कुंभ मेले में श्रद्धालुओं को एंट्री मिलेगी. इसके अलावा 68 साल से अधिक बुजुर्ग 10 साल से कम उम्र के बच्चे और गर्भवती महिलाओं को मेले में न आने के लिए हतोत्साहित किया जाएगा.

साथ ही, कुंभ मेले में आने वाले सभी श्रद्धालुओं को वेबसाइट के माध्यम से पंजीकरण कराना अनिवार्य होगा. पंजीकरण के बाद उन्हें जो ई-पास या ई-परमिट मिलेगा, उसी से लोग हरिद्वार (Haridwar) की सीमा में प्रवेश कर सकेंगे. कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं को वाहन के लिए ई-पास लेना होगा. यात्रियों (Passengers) को पंजीकरण पोर्टल में निर्धारित प्रारूप में सभी प्रासंगिक दस्तावेजों को अनिवार्य रूप से अपलोड करने होंगे. सत्यापन के बाद, उन्हें मेला क्षेत्र में प्रवेश करने के लिए पोर्टल से ई-पास या ई-परमिट जारी किया जाएगा. हरिद्वार (Haridwar) कुंभ का पहला शाही स्नान, महाशिवरात्रि के अवसर पर 11 मार्च को होगा. पहले शाही स्नान पर संन्यासियों के सात और 27 अप्रैल वैशाख पूर्णिमा पर बैरागी अणियों के तीन अखाड़े कुंभ में स्नान करते हैं. 12 अप्रैल सोमवती अमावस्या और 14 अप्रैल मेष संक्रांति के मुख्य शाही स्नान पर सभी 13 अखाड़ों का हरिद्वार (Haridwar) कुंभ में स्नान होगा.

Check Also

उत्तर प्रदेश में बेहद घातक ली 187 और जानें

लखनऊ (Lucknow) . वैश्विक महामारी (Epidemic) की सेकेंड स्ट्रेन का कहर महाराष्ट्र (Maharashtra) के बाद …