सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया को बिना सूचना दिए डेबिट कार्ड बंद करना पड़ा महंगा

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया को बिना सूचना दिए डेबिट कार्ड बंद करना पड़ा महंगा

बैंक एक माह में नया कार्ड जारी करे और दे पांच हजार रूपए

उदयपुर. सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया द्वारा बिना सूचना के जारी किए डेबिट कार्ड को बंद कर देने पर काशीपुरा उत्तराखंड में अध्ययन कर रहे छात्र को हुई परेशानी के लिए जिम्मेदार मानते हुए जिला उपभोक्ता मंच ने बैंक के खिलाफ आदेश पारित कर एक माह में डेबिट या एटीएम कार्ड जारी करने और मानसिक परेशानी और परिवाद व्यय के पांच हजार रूपए पृथक से देने के आदेश दिए.

प्रकरण के अनुसार बोहरा गणेश जी निवासी परसराम पुत्र दयाराम जिनगर व उसके पुत्र रवि जिनगर ने हिरणमगरी सेक्टर-5 स्थित सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया जरिये प्रबंधक के खिलाफ 21 फरवरी 2017 को जिला उपभोक्ता मंच में परिवाद पेश किया, जिसमें बताया कि बैंक में पिता-पुत्र का जोइंट खाता खुलवाया ताकि पुत्र काशीपुरा उत्तराखंड में शिक्षा के दौरान फीस व अन्य खर्चे में बैंक खाते से रूपये प्राप्त कर सके. 15-16 सितम्बर 2016 को बैंक ने बिना सूचना के डेबिट कार्ड ब्लॉक कर दिया, जिससे उसके पुत्र को काफी परेशानी उठानी पड़ी. बैंक से जवाब मांगा लेकिन कोई उत्तर नहीं दिया. 15 फरवरी 2017 को ब्लॉक किए कार्ड को पुन: जारी करने या नया डेबिट कार्ड देने की मांग की तो बैंक ने बताया कि यह उसके क्षेत्राधिकार का नहीं है. 28 सितम्बर 2016 को बैंक की वेबसाईट पर मेल पर डेबिट कार्ड अनलॉक करने का आग्रह किया या नया कार्ड भिजवाने का निवेदन किया, लेकिन बैंक की ओर से कोई जवाब नहीं आने पर 20-27 अक्टूबर 2016 को उच्चाधिकारियों को भी मेल किया. बैंक ने कहा यह गोपनीय है.

डेबिट कार्ड बैंक द्वारा ब्लॉक कर देने से रोजमर्रा के खर्चे व फीस के लिए परिवादी के पुत्र को परेशानी हो रही है. उसे अन्य जगह से व्यवस्था करनी पड़ रही है. जिला उपभोक्ता मंच के अध्यक्ष कमलचंद नाहर एवं सदस्य डॉ. भारतभूषण ओझा ने फरियादी पिता-पुत्र के प्रार्थना पत्र को स्वीकार करते हुए माना कि बैंक ने बिना कोई सूचना दिए परिवादियों के डेबिट कार्ड को ब्लॉक कर दिया, जिससे उन्हें परेशानी उठानी पड़ी. सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के खिलाफ आदेश पारित करते हुए एक माह में डेबिट या एटीएम कार्ड जारी करने का आदेश दिया. साथ ही बैंक परिवादी को मानसिक संताप की क्षतिपूर्ति के दो हजार व परिवाद व्यय के तीन हजार रूपए कुल पांच हजार रूपए पृथक से अदा करे.

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया को बिना सूचना दिए डेबिट कार्ड बंद करना पड़ा महंगा DAINIK PUKAR. Dainik Pukar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*