सरकार की अपील खारिज, आरएएस भर्ती का परिणाम जारी करने पर रहेगी रोक

जयपुर, 15 अप्रैल (उदयपुर किरण). राजस्थान हाईकोर्ट ने आरएएस भर्ती-2018 की मुख्य परीक्षा का परिणाम जारी करने पर लगी रोक के खिलाफ दायर अपील को खारिज कर दिया है. कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश मोहम्मद रफीक और न्यायाधीश गोवर्धन बाढ़दार की खंडपीठ ने यह आदेश राज्य सरकार की ओर से दायर अपील पर सुनवाई करते हुए दिए. अपील में राज्य सरकार की ओर से कहा गया कि सामान्य वर्ग से अधिक अंक लाने वाले ओबीसी वर्ग के अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा में शामिल नहीं करने के मामले में एकलपीठ ने गत एक दिसंबर को मुख्य परीक्षा का परिणाम जारी करने पर रोक लगा दी थी. अपील में कहा गया कि प्रशासनिक अधिकारियों की कमी चल रही है. ऐसे में परिणाम पर रोक लगाना उचित नहीं है. वहीं यदि अधिक अंक वाले ओबीसी अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा में बुलाया जाता तो इनका प्रतिनिधित्व बढ़ जाता. इसका विरोध करते हुए प्रभावित अभ्यर्थियों की ओर से कहा गया कि अभी तक आरएएस भर्ती-2016 में ही नियुक्तियां नहीं दी गई हैं. वहीं पूर्व में भी अधिक अंक वालों को मुख्य परीक्षा में शामिल किया जाता रहा है. जिस पर सुनवाई करते हुए खंडपीठ ने अपील को खारिज कर दिया है. गौरतलब है कि आरएएस व अधीनस्थ सेवा के 1080 पदों की प्रारंभिक परीक्षा के परिणाम में सामान्य वर्ग की कट ऑफ 76.06 और ओसीबी वर्ग की कट ऑफ 99.33 रही. सामान्य वर्ग से अधिक अंक लाने वाले ओबीसी अभ्यर्थियों की ओर से हाईकोर्ट में याचिका दायर कर कहा गया कि अधिक अंक होने के चलते उन्हें सामान्य वर्ग में शामिल किया जाए. इस पर अदालत ने मुख्य परीक्षा का परिणाम जारी करने पर रोक लगा दी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*